लंदन. ब्रिटेन में भारतीय मूल के 28 वर्षीय छात्र पर नस्ली हमला करते हुए एक श्वेत व्यक्ति ने चिल्लाते हुए कहा ‘‘ ब्रेग्जिट , गो बैक होम.’’ भारतीय छात्र ने हिजाब पहनी एक महिला पर ब्रिटिश व्यक्ति की टिप्पणी का विरोध किया था जिसके बाद यह घटना हुई. Also Read - यूरोप के कई देशों में कोरोना वायरस की दूसरी लहर, स्‍पेन की मैड्रिड सिटी में इमरजेंसी लागू

कैंब्रिज न्यूज की खबर के मुताबिक, कैंब्रिज विश्वविद्यालय में राजनीति विज्ञान के छात्र रिकेश आडवाणी ने महिला पर इस व्यक्ति की टिप्पणियों का विरोध किया था. आडवाणी ने कहा, ‘‘मैंने जो सुना उससे मैं पूरी तरह नाराज था और मुझे विश्वास नहीं हो सका कि साल 2018 में लोग ऐसे हो सकते हैं. मैंने सबसे पहले उसे विनम्रता से रोका और मुझे उम्मीद थी कि यह खत्म हो जाएगा.’’ Also Read - ब्रिटेन के बर्मिंघम में बड़ा हादसा, चाकू मारने की घटना में कई गंभीर रूप से घायल, पुलिस ने खाली कराया इलाका

बेघर लोगों के लिए चैरिटी चलाने वाले आडवाणी ने कहा, ‘‘उस स्थिति में कोई भी इंसान अपनी गलती स्वीकार करेगा लेकिन वह बेवजह मेरे साथ आक्रामक हो गया.’’ उन्होंने बताया कि जब उन्होंने नस्ली और लिंग- भेद वाली टिप्पणियों का विरोध किया तो किसी भी अन्य मरीज ने उनका साथ नहीं दिया और इस बात से वह निराश हैं. खबर में पुलिस के एक प्रवक्ता के हवाले से कहा गया है, ‘‘जांच चल रही है. अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई.’’ Also Read - ब्रिटेन: कश्मीरियों को पसंद नहीं आई पाकिस्तानियों की ये हरकत, जमकर हुई झड़प