ISI के साथ रिश्‍तों के आरोपों की जांच में भारतीय एजेंसियों का सहयोग करने को तैयार हूं: अरूसा आलम

पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम ने कहा, ''अगर भारत की केंद्रीय एजेंसियां इस मामले की जांच करना चाहती हैं तो मैं सहयोग करने को तैयार हूं

Advertisement

Pakistani journalist Aroosa Alam News: लाहौर: भारतीय राज्‍य पंजाब में कांग्रेस नेताओं की सियासत की जंग के बीच एक बार फिर से चर्चा में आई पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम (Pakistani journalist Aroosa Alam)  ने मंगलवार को कहा कि वह इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) के साथ अपने संबंधों को लेकर भारतीय एजेंसियों की जांच में सहयोग करने के लिए तैयार हैं. साथ ही आलम ने इन आरोपों को अपमानजनक और बेहद निराशाजनक बताया.

Advertising
Advertising

बता दें कि पंजाब के उपमुख्यमंत्री और गृह विभाग का प्रभार संभाल रहे सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने पिछले सप्ताह कहा था कि आलम का पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के साथ कोई संबंध है या नहीं इसकी जांच की जाएगी.

पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम ने कहा, ''अगर भारत की केंद्रीय एजेंसियां इस मामले की जांच करना चाहती हैं तो मैं सहयोग करने को तैयार हूं. भारत मेरे खिलाफ आधारहीन प्रोपगैंडा की जांच करने के लिए किसी तीसरे देश के जांचकर्ताओं की भी मदद ले सकता है.''

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

पत्रकार अरूसा ने कहा, ''16 साल पहले जब किन्हीं कारणों से मुझे भारतीय वीजा देने से मना कर दिया गया था, उस वक्त भारत सरकार ने ऐसी जांच की थी और बाद में वीजा जारी किया गया था.'' पत्रकार अरुसा ने कहा कि वह अंतिम बार नवंबर में भारत यात्रा पर गईं थीं और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह अभी भी उनके अच्छे मित्र हैं.

Advertisement

67 वर्षीय पत्रकार ने कहा, इस विवाद के बावजूद कैप्टन साहिब अभी भी मेरे अच्छे मित्र हैं. उन्होंने कटाक्ष किया कि उनके माध्यम से आईएसआई ने आखिर क्या राज हासिल कर लिया होगा. उन्होंने गुस्से में कहा, ये आरोप अपमानजनक और बेहद निराशाजनक हैं.''

रंधावा के बयान पर कि आईएसआई के साथ महिला पत्रकार के संबंध हैं या नहीं इसकी पुष्टि करने के लिए जांच की जाएगी, आलम ने आरोप लगाया, ''आईएसआई के साथ मेरे तार जोड़ने का विचार नवजोत सिंह सिद्धू के मुख्य रणनीतिकार (मोहम्मद) मुस्तफा का होगा. संभवत: उन्होंने सिद्धू को सलाह दी होगी कि मुख्यमंत्री बनने के प्रयास में बुरी तरह विफल होने के बाद वह आईएसआई वाली बात कहें. आईएसआई वाली बात भारत में खूब पसंद की जाती है.

महिला पत्रकार ने आईएसआई के साथ उनके संबंधों की जांच करवाने के रंधावा के दावे को लेकर उनके अधिकार क्षेत्र पर भी सवाल उठाया. उन्होंने कहा, रंधावा को उनका अधिकार क्षेत्र नहीं पता है. लेकिन, अगर वह मेरी जांच करना चाहते हैं तो, उनका बहुत स्वागत है.

दरअसल, रंधावा ने दावा किया कि अमरिंदर सिंह वर्षों से आलम के मित्र हैं और वह वर्षों से भारत में रह रही थीं और केंद्र ने समय-समय पर उनका वीजा बढ़ाया है.

पंजाब में पिछले महीने हुए राजनीतिक बदलावों के संदर्भ में उन्होंने हाल ही में सवाल किया, अरूसा साढ़े चार साल तक भारत में रहीं और समय-समय पर उनकी वीजा अवधि बढ़ाई गई. दिल्ली ने उनका वीजा रद्द क्यों नहीं किया? जब हम अमरिंदर सिंह के खिलाफ गए, तब उन्होंने भारत क्यों छोड़ा? अमरिन्दर ने कांग्रेस नेता पर पलटवार करते हुए कहा कि रंधावा उन पर निजी हमले कर रहे हैं.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:October 27, 2021 12:28 AM IST

Updated Date:October 27, 2021 12:28 AM IST

Topics