बीजिंग: चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने रविवार को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को संदेश भेजकर भारत गणराज्य के 71वें गणतंत्र दिवस पर बधाई दी. शी चिनफिंग ने अपने बधाई संदेश में कहा कि चीन और भारत दोनों विकासशील देश और नव उभरती अर्थव्यवस्थाएं हैं. दोनों देश आर्थिक विकास और राष्ट्रीय पुनरुत्थान के काल में गुजर रहे हैं. इधर के वर्षों में दोनों देशों के बीच सामरिक आदान-प्रदान और वास्तविक सहयोग को गहराई मिली है. इनके बीच मानवीय आदान-प्रदान और बहुपक्षीय सहयोग को भी मजबूत किया गया है. Also Read - मलाला यूसुफजई ने कहा- भारत और पाकिस्तान को अच्छे दोस्त बनते देखना मेरा सपना, लोग शांति चाहते हैं

उन्होंने संदेश में कहा कि इस साल चीन और भारत के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना के 70 वर्ष पूरे हो रहे हैं. दोनों देशों के संबंध नई शुरुआत पर हैं और विकास का नया मौका सामने आया है. मैं चीन-भारत संबंधों के विकास को बहुत महत्व देता हूं और राष्ट्रपति कोविंद के साथ मिलकर हमारे विभिन्न क्षेत्रों में आदान-प्रदान व सहयोग को बढ़ाने को तैयार हूं ताकि दोनों देशों और जनता को अधिक कल्याण पहुंचे और एशिया और यहां तक सारी दुनिया को सकारात्मक और सुस्थिर शक्तियां मिल सकें. Also Read - अमेरिका पर भारत का 216 अरब डॉलर का कर्ज, दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था पर उधारी का संकट

चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने भी रविवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संदेश भेजकर भारत के 71वें गणतंत्र दिवस की बधाई दी. Also Read - खुलेगा बातचीत का रास्ता! भारत-पाकिस्तान ने संघर्षविराम समझौतों का पालन करने पर जताई सहमति

ली खछ्यांग ने अपने बधाई संदेश में कहा कि इधर के वर्षों में भारत ने देश के निर्माण में उल्लेखनीय प्रगतियां हासिल की हैं. इस साल चीन और भारत के बीच राजनयिक संबंधों की 70वीं वर्षगांठ है. चीन, भारत के साथ कोशिश कर शीर्ष आवाजाहियों को घनिष्ठ बनाकर रणनीतिक विश्वास बढ़ाने, आपसी लाभ वाले सहयोग को गहराने को तैयार है ताकि चीन और भारत के बीच शांति और समृद्धि उन्मुख सामरिक सहयोग के साझेदार संबंधों का नया विकास हो सके.