चिंगदाओ. ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि ईरानी परमाणु करार से अमेरिका के अलग होने के बाद वह रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन से हालात पर चर्चा करना पसंद करेंगे. चीन के चिंगदाओ में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के इतर पुतिन से अपनी आज की मुलाकात की शुरुआत में रूहानी ने रूस और ईरान के बीच करीबी रिश्तों को सराहा.

एससीओ में ईरान को पर्यवेक्षक का दर्जा प्राप्त है. पुतिन ने कहा कि रूस एससीओ में ईरान की पूर्णकालिक सदस्यता का समर्थन करेगा. रूहानी ने कहा कि ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से अमेरिका के बाहर निकलने के मुद्दे पर ‘‘ दोनों देशों के बीच अहम और गंभीर चर्चा की जरूरत है.’’

उन्होंने सीरिया में रूस-ईरान सहयोग की भी तारीफ करते हुए कहा, ‘‘क्षेत्र में हमारी भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है.’’ रूस और ईरान ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद का पुरजोर समर्थन किया है जिससे असद को युद्ध का रुख अपने पक्ष में मोड़ने में मदद मिली है.