India China Ladakh Border issue : चीन के साथ पूर्वी लद्दाख (India-China Dispute) के गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सेना के बीच तनाव की स्थिति जारी है. सोमवार शाम दोनों देशों की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प में भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए और चीन के भी 40 से अधिक सैनिक इस झड़प में हताहत हुए हैं. चीन के साथ सरहद पर टेंशन के बीच अब खबर है कि रूस (Russia) भी इस मामले में भारत के पक्ष में उतर आया है. सूत्रों के मुताबिक, चीन और भारत के बीच सीमा पर जारी टकराव के बीच रूस ने भारत को समर्थन का आश्वासन दिया है और भारत के प्रयासों की तारीफ की है. Also Read - India-China Border Issue: NSA अजित डोभाल ने संभाला मोर्चा तो पीछे हटी चीनी सेना! कल चीन के विदेश मंत्री से की थी बात

India China LAC Tension Latest News Update Also Read - गलवान घाटी में 1-2 किमी तक पीछे हटे चीनी सैनिक, हथियारों से लैस गाड़ियां अब भी LAC के पास मौजूद

सीमा पर गहराते संकट के मामले पर रूस का कहना है कि भारत (India) और चीन (China) दोनों ही उसके करीबी पार्टनर और दोस्त हैं. रूसी विदेश मंत्री ने कहा कि, ‘जैसा कि हमे पहले से पता है कि भारत और चीन के सैन्य प्रतिनिधियों ने सीमा पर गहराते संकट को लेकर संपर्क किया था और वर्तमान स्थितियों पर चर्चा भी कर रहे हैं. सैन्य प्रतिनिधियों ने इसे समाप्त करने पर भी चर्चा की और हम इसका स्वागत करते हैं.’ Also Read - राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय हालातों पर हुई बातचीत

ऐसे में रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत में रूस के राजदूत निकोल कुदाशेव और रूसी उप-प्रमुख मिशन रोमन बाबूसकिन ने जल्द से जल्द भारत-चीन सीमा विवाद के हल की उम्मीद जताई है. भारत-चीन सीमा विवाद पर ट्वीट करते रूस के राजदूत निकोल कुदाशेव ने लिखा है- ‘हम LAC में डी-एस्केलेशन के उद्देश्य से सभी चरणों का स्वागत करते हैं, जिसमें दो विदेश मंत्रियों के बीच बातचीत भी शामिल है. आशावादी बने रहें.’