मॉस्को: रूस के मैग्नीतोगोर्स्क शहर में एक इमारत में हुए धमाके के चार दिन बाद बचावकर्मियों ने मलबे में दबे लोगों को तलाशने का अभियान खत्म कर दिया है. बृहस्पतिवार को एक व्यक्ति का शव मिलने के साथ मृतकों की संख्या 39 हो गई है. धमाके के बाद यह गगनचुंबी इमारत ध्वस्त हो गई थी. रूस के उप आपात सेवा मंत्री एलेक्जेंडर च्यूप्रियन ने पत्रकारों को बताया, “हमने आज आखिरी और 39वें शव को निकाल लिया है और अब मलबे में किसी के भी दबे होने की आशंका नहीं है.’’

फिलीपींस में चक्रवाती तूफान उस्मान ने मचायी तबाही, 68 की मौत, 40 हजार लोग बेघर

उम्मीद नहीं
रूस के आपात सेवा मंत्रालय ने सोमवार को शहर में दस मंजिला इमारत का एक हिस्सा जमींदोज होने के बाद मलबे के ढेर से लोगों को बचाने के लिये बड़ा अभियान चलाया था. रूस अधिकारियों ने कहा कि उनकी शुरू से कोशिश थी कि जल्द से जल्द मलबे में दबे लोगों तक पहुंचा जाए क्योंकि तापमान शून्य से नीचे 29 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था. ऐसे में बर्फ को हटाने के लिये गर्म हवा और दूसरे उपकरणों का भी सहारा लिया गया. मंगलवार को बचावकर्मियों ने 35 घंटे की मशक्कत के बाद दस महीने के एक बच्चे को मलबे से बाहर निकाला था, जिसके बाद और लोगों के भी जिंदा होने की उम्मीद जगी थी. लेकिन बचाव अभियान में आगे कोई सफलता नहीं मिली अब आपदा प्रबंधन बल ने अभियान समाप्त करने की घोषणा कर दी उनका कहना है कि मलबे में अब और किसी के दबे होने की उम्मीद नहीं है.

पाकिस्तान से बेहतर संबंध चाहते हैं ट्रंप, कहा- नई सरकार से मुलाकात करने की सोच रहा हूं !

नए साल के पहले दिन हुआ था हादसा
गंभीर रूप से घायल इस बच्चे को हेलीकॉप्टर से मास्को के अस्पताल ले जाया गया. बृहस्पतिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने उसकी हालत स्थिर बताई थी. समाचार एजेंसी एफे ने रूसी समाचार एजेंसी इंटरफैक्स के हवाले से कहा कि क्षेत्रीय आपात मंत्रालय के एक प्रवक्ता का कहना है कि मलबे से शवों को बाहर निकालने के बाद मृतकों की संख्या में इजाफा हुआ. बता दें कि सोमवार 1 जनवरी को एक बड़े विस्फोट से सोवियत संघ युग के फ्लैटों की 10 मंजिला इमारत का एक हिस्सा नीचे आ गिरा. सभी 48 फ्लैट ढह गए, जिनमें 120 लोग रहते थे. बचाव अभियान में सहायता के लिए सैकड़ों लोगों को तैनात किया गया था. राहत बचाव में लगे अधिकारियों ने पहले ही चेतावनी दी थी है कि माइनस 29 डिग्री सेल्सियस के कम तापमान के कारण मलबे में दबे लोगों के जिंदा होने की संभावना बेहद कम है.
(इनपुट एजेंसी)

अमेरिका में कामकाज ठप होने से Newlyweds परेशान, शादी को नहीं मिल पा रहा कानूनी दर्जा !


विश्व की अन्य खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें