रियाद: सऊदी अरब के शाह और युवराज (क्राउन प्रिंस) ने एक बड़ा कदम उठाते हुए देश में कोड़े मारने की सजा खत्म करने की घोषणा की है. सऊदी अरब के उच्चतम न्यायालय ने ये सजा खत्म की है. कहा जा रहा है कि सऊदी अरब के शाह और युवराज (क्राउन प्रिंस) द्वारा मानवाधिकार की दिशा में उठाया गया यह ताजा कदम है. Also Read - Saudi Arabia: राजद्रोह के आरोप में तीन सैनिकों को दी गई फांसी, रक्षा मंत्रालय में थे कार्यरत

देश की अदालतों द्वारा दी जाने वाले कोड़े मारने की सजा का पूरी दुनिया के मानवाधिकार समूह विरोध करते हैं क्योंकि कई बार अदालतें 100 कोड़े तक मारने की सजा सुनाती हैं. सऊदी अरब के उच्चतम न्यायालय का कहना है कि ताजा सुधार का लक्ष्य ‘‘देश को शारीरिक दंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकारों के मानदंडों के और करीब लाना है.’’ Also Read - सऊदी अरब से 35 प्रतिशत कम कच्चे तेल की खरीद करेगा भारत, खरीद में विविधीकरण पर जोर

फिलहाल विवाहेत्तर यौन संबंध, शांति भंग करना और हत्या तक के मामलों में अदालतें आसानी से दोषी को कोड़े मारने की सजा सुना सकती थीं. न्यायालय ने एक बयान में कहा है कि भविष्य में न्यायाधीशों को जुर्माना, जेल या फिर सामुदायिक सेवा जैसी सजाएं चुननी होंगे. Also Read - journalist Jamal Khashoggi की हत्‍या के अभियान को सऊदी अरब के प्र‍िंस ने दी थी मंजूरी: US Report

(इनपुट भाषा)