रियाद: सऊदी अरब के शाह और युवराज (क्राउन प्रिंस) ने एक बड़ा कदम उठाते हुए देश में कोड़े मारने की सजा खत्म करने की घोषणा की है. सऊदी अरब के उच्चतम न्यायालय ने ये सजा खत्म की है. कहा जा रहा है कि सऊदी अरब के शाह और युवराज (क्राउन प्रिंस) द्वारा मानवाधिकार की दिशा में उठाया गया यह ताजा कदम है. Also Read - सऊदी अरब ने फिर से खोलीं 90 हजार मस्जिदें, मक्का अब भी बंद

देश की अदालतों द्वारा दी जाने वाले कोड़े मारने की सजा का पूरी दुनिया के मानवाधिकार समूह विरोध करते हैं क्योंकि कई बार अदालतें 100 कोड़े तक मारने की सजा सुनाती हैं. सऊदी अरब के उच्चतम न्यायालय का कहना है कि ताजा सुधार का लक्ष्य ‘‘देश को शारीरिक दंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकारों के मानदंडों के और करीब लाना है.’’ Also Read - live Eid in Saudi Arabia 2020: सऊदी अरब में नहीं हुआ आज चांद का दीदार, अब इस दिन होगी ईद-उल-फित्र

फिलहाल विवाहेत्तर यौन संबंध, शांति भंग करना और हत्या तक के मामलों में अदालतें आसानी से दोषी को कोड़े मारने की सजा सुना सकती थीं. न्यायालय ने एक बयान में कहा है कि भविष्य में न्यायाधीशों को जुर्माना, जेल या फिर सामुदायिक सेवा जैसी सजाएं चुननी होंगे. Also Read - कोरोना वायरस: सऊदी अरब ने इस्लाम के सबसे पवित्र स्थल को खाली कराया

(इनपुट भाषा)