इस्लामाबाद: पाकिस्तान के लाहौर व आसपास के जिलों में शुक्रवार को हवा की गुणवत्ता खतरनाक स्तर को पार कर गई. इस वजह से स्थानीय सरकार को सभी सरकारी व निजी स्कूलों को दो दिन के लिए बंद करने को मजबूर होना पड़ा. पंजाब स्कूल एजुकेशन डिपार्टमेंट द्वारा जारी एक अधिसूचना में कहा गया, “घने धुआंधुंध के मद्देनजर लाहौर, फैसलाबाद व गुजरांवाला जिलों के क्षेत्रीय सीमा के तहत चलने वाले सार्वजनिक व निजी स्कूल 15 व 16 नवंबर को बंद रहेंगे.”

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, पंजाब प्रांत की राजधानी लाहौर एयर विजुअल के आंकड़ों में सबसे बुरी तरह से प्रभावित है. एयर विजुअल, एक वैश्विक वायु निगरानी कंपनी है. इसके आंकड़े से पता चलता है कि शहर में बीते कुछ हफ्तों से हवा की गुणवत्ता बिगड़ गई है.

लाहौर में गुरुवार को छिटपुट बारिश होने से शहर पर धुंध की एक मोटी चादर बन गई और इसने यात्रा व बाहर की अन्य गतिविधियों को खतरनाक बना दिया, जो नागरिकों के लिए चुनौती बन गई. लाहौर डिवीजन के कमिश्नर आसिफ बिलाल लोधी ने स्थानीय मीडिया से कहा कि सरकार ने इस पर विचार करना शुरू कर दिया है और धुंध का स्तर आगे और बढ़ा तो कृत्रिम बारिश कराने पर विचार किया जा सकता है.

(इनपुट आईएएनएस)