बीजिंग: चीन की राजधानी बीजिंग में पिछले तीन दिन में कोरोना वायरस के स्थानीय स्तर पर संक्रमण फैलने के 46 नए मामले सामने आने के बाद खाद्य पदार्थों के सबसे बड़े थोक बाजार शिनफादी समेत छह बाजारों को शनिवार को बंद कर दिया गया है. बाजार के नजदीक के 11 आवासीय इलाकों को भी बंद कर दिया है. बीजिंग में अधिकारियों ने शिनफादी बाजार में आयातित सैल्मन मछली को काटने वाले बोर्ड पर कोरोना वायरस पाया था, जिसके बाद चाओशिफा बाजार, कैरेफोर और वुमार्ट स्टोर से भी मछली के भंडार को हटा लिया गया. Also Read - Bengaluru Lockdown: बेंगलुरू में 14-23 जुलाई तक लागू हुआ लॉकडाउन, सिर्फ इन्हें होगी आने-जाने की इजाजत

ग्लोबल टाइम्स की खबर के मुताबिक ग्राहकों और मांस विक्रेताओं समेत सभी का न्यूक्लेइक एसिड टेस्ट हुआ है. इसमें बताया गया कि शुक्रवार को बीजिंग में छह प्रमुख थोक बाजारों में कामकाज पूरी तरह या आंशिक रूप से बंद हो गया. शिनफादी बाजार के प्रमुख झांग युक्सी ने बीजिंग न्यूज को शुक्रवार को बताया कि वायरस का पता चलने के बाद बाद संपर्क में आए नौ लोगों को पृथक कर दिया गया. हालांकि वे जांच में संक्रमित नहीं पाए गए हैं. Also Read - Lockdown Extended: गुवाहाटी में बढ़ाई गई लॉकडाउन की अवधि, अब 19 जुलाई तक चलेगी तालाबंदी

एपी की एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए शिनफादी बाजार के निकट के 11 आवासीय इलाकों में लॉकडाउन लागू किया गया है. वहीं, स्थानीय निगम अधिकारियों ने प्रेसवार्ता में शनिवार को बताया कि बाजार में काम करने वाले 46 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है हालांकि उनमें इसके कोई लक्षण नहीं थे. सभी को चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है. Also Read - COVID 19 के हालात पर पीएम नरेंद्र मोदी ने की बैठक, बोले- हर राज्य को अपनाना चाहिए दिल्ली मॉडल

शिन्हुआ ने बताया कि शिनफादी बाजार 112 हेक्टेयर में फैला है. यहां 1500 प्रबंधन कर्मी तथा 4000 से अधिक किराएदार रहते हैं. बीजिंग में संक्रमण के मामले बढ़ने से अधिकारी चिंतित हो गए हैं क्योंकि शहर में करीब दो महीनों तक कोविड-19 का कोई नया मामला नहीं आया. नए मामलों ने चीन की राजधानी में कोरोना वायरस के फिर से फैलने की चिंताओं को जन्म दे दिया है.

सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के सचिव काई की ने बताया कि स्थानीय अधिकारियों को विषाणु के फिर से फैलने की आशंका से निपटने के लिए ‘‘युद्ध स्तर’’ पर तैयार रहने को कहा गया है. सरकारी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ के अनुसार चीन के स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि छिटपुट मामले आना सामान्य है क्योंकि इस संक्रामक बीमारी का खात्मा नहीं हुआ है लेकिन इस महामारी के फिर से फैलने की आशंका नहीं है क्योंकि दो करोड़ की आबादी वाले इस शहर के निवासी एहतियात बरतने को लेकर काफी जागरूक हैं.

शुक्रवार को सामने आए दो मरीज बीजिंग के फेंगतई जिले में एक मांस अनुसंधान केंद्र में काम करने वाले सहकर्मी हैं और उनका एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. लियु उपनाम के एक मरीज ने पांच दिनों के लिए पूर्वी चीन के शांगडोंग प्रांत की यात्रा की थी जबकि दूसरे ने हाल फिलहाल में कोई यात्रा नहीं की. बीजिंग ने फेंगतई जिले में शिनफादी बाजार और जिंगशेन सीफूड बाजार को तत्काल बंद कर दिया जहां संक्रमित मरीज गया था.

ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक जिन उद्योगों में कामकाज शुरू हो चुके हैं वहां कोविड-19 संबंधी नियंत्रण और सख्त किया जाएगा. शहर में लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस के नए मामले सामने आने के बाद पहली से तीसरी कक्षा के लिए स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला भी शुक्रवार को बदल दिया गया. शुक्रवार तक चीन में कुल संक्रमितों की संख्या 83,075 पर पहुंच गई जिसमें से 74 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है. हालांकि किसी की भी हालत गंभीर नहीं है. एनएचसी ने बताया कि 78,367 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई है और 4,634 लोगों की इस बीमारी से मौत हो गई है.