मॉन्ट्रियल: कनाडा के मॉन्ट्रियल शहर में आयोजित 2018 के 34वें ’गे प्राइड मार्च’ में एलजीबीटीक्यू समुदाय के लोगों के समर्थन में लाखों लोगों ने हिस्सा लिया और दुनिया भर में ऐसे लोगों के साथ होने वाले भेदभाव और दमन के खिलाफ एक मिनट का मौन रखा.

मॉन्ट्रियल में पिछले कुछ दिनों से एलजीबीटीक्यू समुदाय के प्रति सद्भाव दिखाते हुए कई कार्यक्रम किए गए हैं और रविवार को परेड आयोजित की गई. परेड की शुरुआत ट्रांसजेंडर महिलाओं ने ‘ट्रांस महिलाएं सबसे पहले, अब पीछे नहीं’ का नारा लगाते हुए की.
MONTRIAL.jpg 1

सहनशीलता काफी नहीं, स्वीकार्यता बढ़े: ट्रूडो
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने रविवार को आयोजित इस 3 किलोमीटर परेड का उद्घाटन किया. मीडिया के साथ प्रेस कांफ्रेंस कर ट्रूडो ने कहा कि, “क्या हम सहनशीलता पर बात करना बंद कर सकते हैं? हमें स्वीकार करने पर बात करनी चाहिए, हमें खुलेपन पर बात करनी चाहिए; हमें दोस्ती पर बात करनी चाहिए. हमें प्रेम पर बात करने की जरूरत है सिर्फ सहनशीलता पर नहीं.”

मौके पर मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “आज सबके साथ जश्न मनाना गर्व की बात है। बोना फिते; हैप्पी प्राइड.” परेड के दौरान उनकी पत्नी सोफिया जॉर्जिया ट्रूडो भी उनके साथ मौजूद थीं.
MONTRIAL

लाखों लोग गर्व के इस जुलूस में शामिल हुए
आयोजक के अनुसार लाखों लोग गर्व के इस जुलूस में शामिल हुए. यहां एलजीबीटीक्यू (समलैंगिक, गे, उभयलिंगी, ट्रांसजेंडर और क्यूअर) लोगों पर कुछ देशों में हो रहे दमन के खिलाफ एक मिनट का मौन रखा गया. आयोजकों ने परेड में भाग लेने के लिए इस साल केनेडी ओलांगो को आमन्त्रित किया था. एलजीबीटीक्यू कार्यकर्ता केनेडी ओलांगो के देश केन्या में इसे अपराध माना जाता है और इसके लिए कड़ी सजा दी जाती है. उन्होंने ट्रूडो सरकार ने उनके देश का दृष्टिकोण बदलने के लिए मदद मांगी.

चुनावी रणनीति भी रही नजर में
कनाडा के क्यूबेक शहर में अगले हफ्ते से चुनावी कैंपेन की शुरुआत हो जाएगी. इसके मद्देनजर भी मॉन्ट्रियल की मेयर वैलेरी प्लांटे के साथ लगभग सभी राजनैतिक दलों के नेता भी परेड में एलजीबीटीक्यू समुदाय के समर्थन में मौजूद रहे.

प्रधानमन्त्री जस्टिन ट्रूडो ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, “हालांकि हमने सभी के प्रति समान व्यवहार की ओर प्रगति की , तब भी एलजीबीटीक्यू युवाओं की स्थिति आज भी अच्छी नहीं है.” परेड के बाद ट्रूडो ने 2019 के आम चुनावों के लिए प्रधानमंत्री पद के नॉमिनेशन में फाइल किया.