नई दिल्ली: पाकिस्तान में बुधवार को होने वाले चुनाव से पहले पूर्व पीएम नवाज शरीफ के छोटे भाई और उनकी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार शहबाज शरीफ ने बड़ा बयान दिया है जिसपर विवाद हो रहा है. जियो टीवी से बात करते हुए शहबाज शरीफ ने कहा कि अगर वो सत्ता में आते हैं तो ऐसा माहौल बनाएंगे कि कश्मीर पाकिस्तान में शामिल हो जाए.

पाकिस्तान चुनावः शहबाज शरीफ बोले- पाकिस्तान को भारत से बेहतर मुल्क न बनाया तो नाम बदल देना  

भारत पर लगाया आरोप
चुनाव जीतने की स्थिति में अपने योजना के बारे में बताते हुए शहबाज शरीफ ने कश्मीर के मुद्दे पर भारत की आलोचना भी की. शरीफ ने भारत पर कश्मीरियों के साथ गलत व्यवहार करने का आरोप लगाया. शरीफ ने कहा कि कश्मीर शांति और विकास के जरिए पाकिस्तान का हिस्सा बनेगा. शरीफ ने बर्लिन वॉल का उदाहरण देते हुए कहा कि जिस तरह बर्लिन की दीवार को गिराकर दो हिस्से फिर से आपस में जुड़े हैं उसी तरह कश्मीर को भी पाकिस्तान से जोड़ेंगे.

पाकिस्तान चुनाव 2018 का जनरल नॉलेज, जानें सब कुछ

नाम बदलने का चैलेंज
इससे पहले शहबाज शरीफ ने कहा था कि सत्ता में आने के बाद वह पाकिस्तान को अपने पड़ोसी मुल्क भारत से बेहतर बनाएंगे. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के सरगोधा जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए शरीफ ने यहां तक कह डाला कि सत्ता में आने के बाद अगर वह पाकिस्तान को भारत से आगे नहीं ले जाते हैं तो आवाम उनका नाम बदल सकती है.

नवाज शरीफ की मुश्किलें बढ़ीं, पार्टी नेता हनीफ अब्बासी को उम्रकैद

बड़बोले शरीफ
पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री रह चुके 65 वर्षीय शहबाज शरीफ ने चुनाव में जीत मिलने के बाद पाकिस्तान को दुनिया के विकसित इस्लामी देशों से आगे ले जाने का भी दावा किया. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पीएमएल (एन) के चुनाव जीतने पर भारतवासी, पाकिस्तान को सिरमौर मानने लगेंगे और भारतीय लोग वाघा सीमा पर आएंगे और पाकिस्तानियों को अपना आका बताएंगे.

शरीफ ने दावा किया कि वह पाकिस्तान को मलेशिया और तुर्की से भी आगे ले जाएंगे. उन्होंने कहा कि वह मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद और तुर्की के राष्ट्रपति तायिप एर्दोआन से मिल कर ‘उनसे सीखेंगे और पाकिस्तान को फिर से एक महान देश बनाएंगे.’