सिंगापुर: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया प्रमुख किम जोंग उन के बीच 12 जून को सिंगापुर में हुई बैठक पर एक करोड़ 20 लाख डॉलर यानी 81 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च हुए हैं. सिंगापुर ने बताया कि उसने अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच हुई ऐतिहासिक शिखर वार्ता पर एक करोड़ 20 लाख डॉलर यानी 81 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च किए. इस वार्ता में आई उच्च लागत की शिकायत पर सिंगापुर ने कहा कि यह पूर्वानुमानित लागत से कम है. Also Read - US Presidential Election: डोनाल्‍ड ट्रंप बोले- जो बाइडेन एक भ्रष्ट राजनीतिज्ञ हैं

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के बीच 12 जून को सिंगापुर में मुलाकात हुई थी. इस बैठक का उद्देश्य द्विपक्षीय संबंधों को सामान्य बनाना और कोरियाई प्रायद्वीप में पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण था. ट्रंप और किम के बीच यह मुलाकात सिंगापुर के लोकप्रिय पर्यटन स्थल सेंटोसा के एक होटल में हुई थी. Also Read - जो बाइडेन के चुनावी कार्यक्रम में कोरोना ने डाला खलल, कैंपेन के तीन सदस्य वायरस से संक्रमित

सेंटोसा आईलैंड में बने इस होटल का निर्माण साल 2009 में हुआ था. इस होटल की डिजाइन ब्रिटिश वासतुकार नॉर्मन फोस्टर ने की है. 500 डॉलर यानी लगभग 35,000 हजार प्रति रात के हिसाब से यहां कमरे शुरू होते हैं. इस होलट-रिसॉर्ट में अवॉर्ड विनिग औरिंगा स्पा भी है. जो स्पा, ट्रीमेंट समेत कई तरह की सुविधा उपलब्ध कराते हैं. Also Read - बाइडन की आलोचना वाले लेख को ट्विटर, फेसबुक ने किया बैन, डोनाल्ड ट्रंप को आया गुस्सा

मुलाकात के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि उम्मीद है हम दोनों के संबंध अच्छे रहेंगे. सबकुछ भुलाकर अब हम आगे बढ़ेंगे. हमारी मुलाकात ऐतिहासिक रही. इस दौरान किम जोंग उन ने कहा था कि यहां तक पहुंचना आसान नहीं था. हमने सबकुछ भुलाकर यह मुलाकात की है, दोनों नेताओं के बीच पहले दौर में करीब 50 मिनट तक मुलाकात हुई थी.