वाशिंगटन: व्हाइट हाउस में कार्यरत कई बड़े अधिकारीयों के पद छोड़ने पर सवाल उठने लगे हैं. ऐसे में व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव साराह सैंडर्स ने सरकार की तरफ से कहा कि लोगों के अमेरिकी प्रशासन छोड़कर जाने में कुछ भी असामान्य नहीं है. साराह सैंडर्स यह जवाब उस वक्त दिया जब उनसे सवाल पुछा गया कि अमेरिकी इतिहास में ऐसा कोई प्रशासन नहीं रहा जिसमें इतने अधिक लोगों ने नौकरी छोड़ी हो. Also Read - अमेरिकी राष्ट्रपतियों के लिए वरदान है व्हाइट हाउस का बंकर, परमाणु बम का भी इसपर नहीं होगा असर

Also Read - White House: व्हाइट हाउस के पास विरोध प्रदर्शन, वॉशिंगटन में कर्फ्यू

नौकरी छोड़ने के कारण पर उनसे यह पूछा गया कि अगर इसे उथल पुथल नहीं कहा जाएगा तो हाल के दिनों में जो हो रहा है उसे आप क्या कहेंगी. जिसके बाद साराह ने कहा, अगर ऐसा होता तो मुझे नहीं लगता कि हमने जो कुछ भी किया है उसे पूरा करने में हम सक्षम होते. उन्होंने कहा, आर्थिक स्थिति मजबूत हुई है. रिकॉर्ड संख्या में नौकरियों का सृजन हो रहा है. ऐसी कई ऐतिहासिक चीजें हैं जो पहले साल में ही हुईं. उत्तर कोरिया के साथ बातचीत पर जापानी प्रधानमंत्री ने किया आगाह, बोला उठाये जाएं ठोस कदम Also Read - ट्रम्प ने जी-7 सम्मेलन टाला, भारत समेत अन्य देशों को करना चाहते हैं शामिल

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के पास कई दक्ष, कुशल, सक्षम लोग हैं जिन पर वह निर्भर रह सकते हैं. लेकिन अंतत: राष्ट्रपति डोनाल्ड जे ट्रंप को अमेरिकी जनता का भरपूर वोट मिला. उन्होंने उनकी नीतियों, एजेंडा और निर्णय लेने की उनकी अद्भुत क्षमता के लिये वोट किया और ट्रंप का पूरा ध्यान दीर्घकालिक आर्थिक लक्ष्यों पर है.

बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मुख्य आर्थिक सलाहकार एवं गोल्डमैन सैक्स के पूर्व कार्यकारी अधिकारी गैरी कोहन ने मंगलवार को पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने व्हाइट हाउस द्वारा इस्पात और एल्यूमिनियम पर आयात शुल्क लगाए जाने की योजना से असहमति जताते हुए इस्तीफा दिया है. जिसके बाद से यह ममाला और भी तूल पकड़ने लगा.( भाषा इनपुट )