लंदन: सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्स (एसडीएफ) के प्रवक्ता ने ब्रिटेन से भागकर इस्लामिक स्टेट में शामिल हुई शमीमा बेगम के नवजात बेटे की सीरिया के शरणार्थी शिविर में मौत होने की पुष्टि की है. इससे पहले भी उसकी मौत की खबरें आईं थी.

अमेरिका समर्थित एसडीएफ बलों ने शुक्रवार को कहा कि शमीमा के दो सप्ताह के बेटे जर्राह के चिकित्सा प्रमाणपत्र के मुताबिक निमोनिया से उसकी मौत हो गई है. एडीएफ बल उस जगह शिविर चला रहे हैं जहां 19 वर्षीय शमीमा शरण लिये हुए है.

ब्रिटेन सरकार के प्रवक्ता ने कहा किसी भी बच्चे की मौत परिवार के लिये दुखद एवं तकलीफदेह है. शिविर में कुर्दिश रेड क्रिसेंट के लिये काम कर रही सहायक चिकित्सक ने कहा कि बच्चे को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी. उसे बृहस्पतिवार की सुबह अस्पताल भेजने से पहले चिकित्सक को दिखाया गया था, लेकिन बृहस्पतिवार की दोपहर बाद उसने दम तोड़ दिया. इसके बाद उसकी मां शमीमा बेगम को वापस शिविर लाया गया और बेटे को शुक्रवार को दफना दिया गया.