दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रपति ने चौथी लहर की चेतावनी दी, सभी प्रांतों में फैला कोरोना का Omicron वैरिएंट

रामफोसा ने रविवार शाम टेलीविजन पर अपने भाषण में कहा कि कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के कारण कोरोना संक्रमणों की संख्या बढ़ गई है.

Advertisement

Omicron latest news: दक्षिण अफ्रीका के सभी प्रांतों में फैले ओमिक्रॉन वेरिएंट के साथ राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने आशंका जताई है कि अगर नए मामले बढ़ते रहे तो देश जल्द ही चौथी लहर में प्रवेश कर सकता है. रामफोसा ने रविवार शाम टेलीविजन पर अपने भाषण में कहा, "कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के कारण कोरोना संक्रमणों की संख्या बढ़ गई है. अगर मामलों में बढ़ोतरी जारी रहती है तो हम अगले कुछ हफ्तों में चौथी लहर में पहुंच जाएंगे."

Advertising
Advertising

राष्ट्रपति ने कहा, "हमने बीते सात दिनों में औसतन 1,600 नए मामले देखे हैं, जबकि पिछले सप्ताह में केवल 500 नए दैनिक मामले सामने आए थे. पॉजिटिव कोरोना मामलों की संख्या बढ़ गई है." उन्होंने आगे कहा, "हम जानते हैं कि पिछले दो हफ्तों में गौतेंग में पाए गए अधिकांश संक्रमणों के लिए नया वैरिएंट जिम्मेदार है और अब अन्य सभी प्रांतों में तेजी से उभर रहा है." उन्होंने कहा, "सरकार ने एक कार्यदल का गठन किया है जो कुछ गतिविधियों और स्थानों में अनिवार्य टीकाकरण की शुरूआत पर व्यापक रूप से विचार-विमर्श करेगा."

टास्क फोर्स उप राष्ट्रपति डेविड माबुजा की अध्यक्षता में टीकाकरण पर अंतर-मंत्रालयी समिति को रिपोर्ट करेगी, जो कैबिनेट को सिफारिशें करेगी. उन्होंने कहा कि लोगों के पास पहला और सबसे शक्तिशाली उपकरण टीकाकरण है. उन्होंने कहा, "टीकाकरण अपने आप को और अपने आस-पास के लोगों को ओमिक्रॉन वेरिएंट से बचाने, चौथी लहर के प्रभाव को कम करने और सामाजिक स्वतंत्रता को बहाल करने में मदद करने का सबसे महत्वपूर्ण तरीका है."

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

"हमारी अर्थव्यवस्था के पूर्ण संचालन के लिए, यात्रा को फिर से शुरू करने और पर्यटन और आतिथ्य जैसे कमजोर क्षेत्रों की रिकवरी के लिए टीकाकरण भी महत्वपूर्ण है." रामाफोसा ने कहा कि कोरोना वायरस सभी वायरसों की तरह उत्परिवर्तित होता है और नए रूप बनाता है. जहां लोगों को टीका नहीं लगाया गया है, वहां ज्यादा गंभीर रूपों के उभरने की संभावना है. उन्होंने कहा, "इसीलिए हम दुनिया भर के कई देशों, संगठनों और लोगों के साथ जुड़ गए हैं, जो सभी के लिए वैक्सीन की समान पहुंच के लिए लड़ रहे हैं."

Advertisement

(इनपुट आईएएनएस)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:November 29, 2021 3:26 PM IST

Updated Date:November 29, 2021 3:26 PM IST

Topics