सोल: अमेरिका के साथ शिखर बैठक से पहले उत्तर कोरिया द्वारा सेना के तीन शीर्ष अधिकारियों को बदले जाने की खबरों पर दक्षिण कोरिया करीब से नजर रखे हुए है. गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम- जोंग उन के बीच 12 जून को सिंगापुर में शिखर बैठक होने की संभावना है. इस दौरान उत्तर कोरिया के पास मौजूद परमाणु हथियारों का जखीरा प्रमुख मुद्दा रहेगा. Also Read - Kim Jong Un Cruel Decision: फिर सामने आई किम जोंग उन की क्रूरता, कोरोना के नियम तोड़ने पर नागरिक को गोलियों से भुनवाया

मीडिया में आई खबरों के अनुसार उत्तर कोरिया में हुई फेर-बदल का लक्ष्य संभवत: सेना को कुछ काबू में लाना है. पिछले महीने के अंतिम में उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया में खबर आयी थी कि किम सु गिल को सेना के शक्तिशाली जनरल पोलिटिकल ब्यूरो (जीपीबी) का निदेशक नियुक्त किया गया है. उन्होंने किम जोंग गाक की जगह ली है. संवाद समिति योनहाप ने खुफिया विभाग के सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि चीफ ऑफ जनरल स्टाफ रि म्योंग सु की जगह उनके कनिष्ठ रि योंग गिल को दे दी गयी है. Also Read - कोरोना के डर से किम जोंग उन ने लगवाया बिना अप्रूवल वाला चाइनीज टीका, कई दिनों से हैं 'गायब'

वहीं, पाक योंग सिक की जगह पूर्व उपमंत्री नो क्वांग चोल को नया रक्षा मंत्री बनाया गया है. दक्षिण कोरिया का कहना है कि यदि इस फेर – बदल की पुष्टि होती है तो यह बेदह दुर्लभ होगा. उसका कहना है कि घटनाक्रम पर करीब से नजर रखी जा रही है. Also Read - भाषण के दौरान भावुक हुए नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन, जनता से मांगी माफी