मैड्रिड: कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच स्पेन में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. अस्पतालों को संक्रमण मुक्त करने लिए गए सैनिकों ने लोगों को गंदगी और उन संक्रमित शवों के बीच रहते पाया जिनके बारे में संदेह है कि उनकी मौत कोरोनो वायरस से हुई है. इस संबंध में न्यायिक जांच शुरू कर दी गई है. Also Read - Coronavirus in Delhi: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 7,897 नए मामले सामने आए, 39 रोगियों की मौत

रक्षा मंत्री मार्गरिटा रोबल्स ने बताया कि बुजुर्ग लोगों को ‘पूरी तरह से’ खुद के हवाले छोड़ दिया गया या कुछ को अपने बिस्तरों पर मृत छोड़ दिया गया. उन्होंने कहा कि कई नर्सिंग होम मिले हैं और कई शव मिले हैं. हालांकि, उन्होंने इस बारे में जानकारी नहीं दी कि ये अस्पताल कहां हैं और कितने शव मिले हैं. Also Read - कोरोना संकट का असर, हरियाणा रोडवेज की बसों के उत्तराखंड में प्रवेश करने पर रोक

स्पेन में मंगलवार को 6,584 नए संक्रमण के रिकॉर्ड मामले सामने आए हैं और कुल संक्रमित लोगों की संख्या 39,673 पहुंच गई है. वहीं, मृतकों की संख्या 2,696 पहुंच गई. स्पेन की राजधानी में ही अब तक 1,535 लोगों की मौत हो चुकी है. स्पेन के स्वास्थ्य आपात केंद्र के प्रमुख फर्नान्डो सिमोन ने कहा, ‘‘ यह एक कठिन सप्ताह है.’’ Also Read - COVID-19: देश की सड़कें फिर नजर आईं सूनी, कोरोना संक्रमण के 72 फीसदी से ज्‍यादा केस सिर्फ इन 5 राज्यों से हैं

उन्होंने बताया कि अब तक 5,400 स्वास्थ्यकर्मी इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं.

(इनपुट भाषा)