कोलंबो: श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के दिन विभिन्न जगहों पर हुए विस्फोटों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 359 हो गई है, जिसमें कई विदेशी नागरिक भी शामिल हैं. पुलिस प्रवक्ता रुवान गुनसेकरा ने कहा कि अब तक 58 संदिग्धों को देश के विभिन्न क्षेत्रों से गिरफ्तार किया गया है. आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने मंगलवार को हमलों की जिम्मेदारी ली थी.

 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने गुनसेकरा के हवाले से बताया कि बुधवार तड़के कम से कम 18 और संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया. उन्होंने कहा कि वारकापोला में एक घर से पुलिस ने चार वॉकी-टॉकी और एक मोटरसाइकिल बरामद की है जो यहां से लगभग 56 किलोमीटर दूर है. श्रीलंका के विदेश मंत्रालय ने बताया कि मारे गए लोगों में कम से कम 34 विदेशी नागरिक हैं.

ISIS ने ली श्रीलंका के बम धमाकों की जिम्मेदारी, अभी तक 321 लोगों की हो चुकी है मौत

श्रीलंका का सबसे भयावह हमला
बता दें कि रविवार को सात आत्मघाती बम हमलावरों ने तीन गिरजाघरों और तीन होटलों में कई धमाके किए थे, जिनमें मरने वालों की संख्या बढ़कर 359 हो गई है. देश में यह सबसे भयावह आतंकवादी हमला था. इन हमलों के सिलसिले में एक ड्राइवर समेत 58 संदिग्ध गिरफ्तार किए गए हैं. इसी ड्राइवर की गाड़ी का आत्मघाती बम हमलावरों ने इस्तेमाल किया था.