संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने श्रीलंका में गहराए राजनीतिक संकट पर चिंता जताते हुए सभी राजनीतिक दलों से संयम बनाए रखने को कहा है. गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने जारी बयान में कहा कि गुटेरेस श्रीलंका के ताजा घटनाक्रमों पर नजर बनाए हुए हैं. वही ह्यूमन राइट्स वाच भी श्रीलंका के घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए है.

नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित हो
संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने रविवार को श्रीलंका में एक पूर्व मंत्री के बॉडीगार्ड द्वारा भीड़ पर गोली चलाने के मामले का भी उल्लेख किया. इस गोलीबारी में एक की मौत हो गई थी जबकि दो घायल हो गए थे. गौरतलब है कि श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने बड़े ही नाटकीय ढंग से देश के मौजूदा प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को बर्खास्त कर पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे को देश का नया प्रधानमंत्री नियुक्त कर दिया था. इसके साथ ही सिरिसेना ने संसद भी निलंबित कर दी थी.

श्रीलंका के सियासी संकट से अमेरिका चिंतित, राष्ट्रपति मैत्रीपाला से कहा संसद की बैठक तत्काल बुलाएं

संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुटेरेस ने श्रीलंका सरकार से लोकतांत्रिक मूल्यों और संवैधानिक प्रावधानों एवं प्रक्रियाओं का सम्मान करने और देश में नागरिकों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए कानून के नियमों को बनाए रखने का आह्वान किया था. वहीँ श्रीलंका की संसद के स्पीकर कारु जयसूर्या ने संकट में घिरे रानिल विक्रमसिंघे को बड़ी राहत देते हुए रविवार को उन्हें देश के प्रधानमंत्री के तौर पर मान्यता दे दी. संसद के स्पीकर ने कहा कि संसद को निलंबित करने का फैसला स्पीकर के साथ विचार-विमर्श के बाद लिया जाना चाहिए. (इनपुट एजेंसी)