इस्लामाबाद: इलाज के लिए पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की विदेश यात्रा पर कैबिनेट के फैसले से पहले एक विशेष उप समिति मंगलवार को एक बैठक कर रही है. पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (PML-N) के प्रमुख शुक्रवार को डॉक्टरों की सलाह और परिवार के आग्रह को मानकर उपचार के लिए ब्रिटेन जाने पर सहमत हो गए थे. उन्हें रविवार को पाकिस्तान इंटरनेशनल एअरलाइंस (पीआईए) की उड़ान से लंदन जाना था, लेकिन वह अपना नाम ‘उड़ान निषिद्ध सूची’ में होने के कारण ऐसा नहीं कर पाए. अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NAB) के अध्यक्ष जावेद इकबाल के मौजूद न होने के कारण सरकार शरीफ का नाम ‘उड़ान निषिद्ध सूची’ से नहीं निकाल पाई.

कानून मंत्री फरोग नसीम उपसमिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं जिसमें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के जवाबदेही मामलों पर विशेष सहायक शहबाज अकबर और गृह सचिव भी शामिल हैं. बैठक में शरीफ के निजी चिकित्सक अदनान खान और वकील अताउल्ला तरार तथा एनएबी के प्रतिनिधि भी शामिल हैं जो मुद्दे पर समिति को अपने-अपने रुख से अवगत कराएंगे. शरीफ का नाम ‘उड़ान निषिद्ध सूची’ से निकालने के मुद्दे पर निर्णय करने से भ्रष्टाचार रोधी इकाई एनएबी के इनकार के बाद समिति को बैठक कर प्रस्ताव देने को कहा गया है. एनएबी के इनकार के चलते सरकार को मुद्दे पर निर्णय के लिए कैबिनेट की बैठक करने का फैसला लेना पड़ा जो आज शाम तक होगी. लेकिन कैबिनेट की बैठक से पहले उप समिति कानूनी और चिकित्सा आधार पर अपना प्रस्ताव तय करेगी.

चीन ने करतारपुर गलियारा खोलने के लिए भारत-पाकिस्तान की पहल का स्वागत किया

सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (PTI) के सूत्रों ने समाचार एजेंसी को बताया कि प्रधानमंत्री इमरान खान को अपने कुछ कैबिनेट और पार्टी सहकर्मियों की ओर से विरोध का सामना करना पड़ रहा है जो शरीफ को कोई छूट दिए जाने के खिलाफ हैं. सूत्रों ने कहा कि विरोध कर रहे लोगों को लगता है कि शरीफ को विदेश जाने देने से पार्टी को नुकसान पहुंच सकता है जो भ्रष्ट नेताओं को जेल में डालने के वायदे के आधार पर सत्ता में आई थी. शरीफ अस्थिर प्लेटेलेट काउंट समेत कई बीमारियों से ग्रस्त हैं और उनकी अभी लाहौर में उनके आवास पर देखरेख की जा रहा रही है जहां एक आईसीयू बनाया गया है. शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन की प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने सोमवार को ट्वीट किया था कि डॉक्टरों के अनुसार, शरीफ के विदेश जाने की प्रक्रिया में तेजी लाने की जरूरत है.

औरंगजेब ने कहा कि डॉक्टरों ने पूर्व प्रधानमंत्री को विदेश की यात्रा करने के लिए तैयार करने के वास्ते स्टेरॉयड्स की भारी खुराक दी है. उन्होंने कहा कि किसी आपात स्थिति में इलाज के लिए शरीफ को विदेश ले जाना लगभग मुश्किल होगा. उन्होंने बताया था कि डॉक्टर पूर्व प्रधानमंत्री का प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहे हैं ताकि जब वह यात्रा करें तो उनकी तबीयत न बिगड़े. शनिवार नौ नवंबर को शरीफ का प्लेटेलेट काउंट 20,000 था. शरीफ को बुधवार छह नवंबर को लाहौर में उनके जट्टी उमरा रायविंड स्थित आवास ले जाया गया था. वह दो सप्ताह तक कई बीमारियों के इलाज के लिए पाकिस्तान के एक अस्पताल में भर्ती रहे थे. शरीफ का प्लेटलेट काउंट अत्यधिक कम हो जाने के बाद उन्हें 22 अक्टूबर को सर्विसेज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था.