वॉशिंगटन: सारी उठा-पटक, ऐतिहासिक कामबंदी समेत मेक्सिको सीमा दीवार के लिए कवायद, वायदों और दावों के बाद अब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि उन्हें संदेह है कि अमेरिकी सांसद सीमा पर दीवार की फंडिंग के लिए किसी ऐसे समझौते पर पहुंचेंगे जो उन्हें स्वीकार्य होगा. उन्होंने कहा कि वह दीवार का निर्माण हर हाल में कराएंगे और जरूरत पड़ी तो इसके लिए वह आपातकालीन शक्तियों का इस्तेमाल भी करेंगे. वॉल स्ट्रीट जनरल की एक रिपोर्ट में यह कहा गया.

अमेरिका में कामबंदी खत्म: आखिरकार राष्ट्रपति ट्रंप को झुकना ही पड़ा, नैन्सी पेलोसी की बड़ी जीत

फिर से हो सकती है कामबंदी !
सीएएन के मुताबिक, वॉल स्ट्रीट जनरल की रिपोर्ट में रविवार को कहा गया कि ट्रंप ने कहा कि तीन सप्ताह मे फंड की कमी के कारण सरकार का कामकाज फिर से बंद होने से पहले किसी नए समझौते पर पहुंचने की संभावना ’50-50 से कम ही है. ट्रंप ने कहा कि सरकार का कामकाज फिर से बंद करना ‘निश्चित तौर पर एक विकल्प है. ट्रंप की यह टिप्पणी शुक्रवार को अमेरिकी इतिहास में अब तक की सबसे लंबी सरकारी कामबंदी खत्म होने के बाद आई है. हालांकि मेक्सिको दीवार के लिए फंड न मिलने तक कामबंदी जारी रखने के अपने फैसले से अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को आखिरकार झुकना पड़ा था.

ट्रंप ने शुक्रवार को जिस समझौते पर हस्ताक्षर किए थे, जिससे सरकार का कामकाज अस्थायी रूप से शुरू हुआ था, उसमे मेक्सिको-अमेरिकाकी सीमा पर दीवार के निर्माण के लिए फंड को मंजूरी नहीं दी गई थी. वॉल स्ट्रीट जनरल के इस सवाल पर कि क्या वह दीवार के निर्माण के लिए 5.7 अरब डॉलर की राशि से कम स्वीकार करेंगे, ट्रंप ने कहा, “मुझे नहीं लगता..कि मुझे यह करना पड़ेगा. (इनपुट एजेंसी)

पढ़ाई के लिए आई थीं अमेरिका, अब हैं राष्ट्रपति पद की दावेदार ‘भारतीय मूल’ की कमला हैरिस