Washington:  भारतवंशी एयरोस्पेस इंजीनियर स्वाति मोहन (Swati Mohan) ने हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (President Joe Biden) को बताया है कि नासा (NASA) में आने का रास्ता उस वक्त खुल गया था ,जब उन्होंने बचपन में स्टार ट्रेक (Star Trek) की पहली कड़ी देखी थी. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के पर्सेवियरेंस रोवर (Perseverance Rover) के मंगल (Mars) की सतह पर सफलतापूर्वक उतरने के अभियान में स्वाति मोहन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. Also Read - राष्ट्रपति Biden की आलोचना पर भड़का North Korea, कहा-अमेरिका का बयान तनाव बढ़ने वाला

स्वाति ने नासा के मंगल 2020 अभियान (NASA Mars Mission 2020) में दिशा-निर्देश, दिशा-सूचक और नियंत्रण अभियान का नेतृत्व किया. पर्सेवियरेंस रोवर 18 फरवरी को मंगल की सतह पर उतरा था. वह जब एक साल की थीं तभी उनका परिवार भारत से अमेरिका आ गया था. स्वाति ने कहा कि अंतरिक्ष के लिए उनकी जिज्ञासा बचपन में तब से शुरू हो गई थी जब वह लोकप्रिय टीवी शो ‘स्टार ट्रेक’ देखा करती थीं. Also Read - NASA के रोवर ने मंगल ग्रह पर 21 फुट की दूरी तय की, भेजी कई तस्वीरें

स्वाति ने डिजिटल माध्यम (Digital Media) से बाइडन से बातचीत के दौरान बताया, ‘अंतरिक्ष के अद्भुत दृश्यों ने सबसे ज्यादा मेरा ध्यान खींचा और अंतरिक्ष के खोज के लक्ष्य के इरादे से काम करने लगी.’ राष्ट्रपति बाइडन ने नासा की टीम को पिछले महीने मंगल पर छह पहिए का रोवर सफलतापूर्वक उतारने के अभियान और अमेरिका का विश्वास बढ़ाने के लिए बधाई दी. Also Read - Joe Biden US President: अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बनने के बाद बोले जो बाइडन- 'मैं सबकी तरक्की और सबकी रक्षा के लिए हूं'

स्वाति ने बताया, ‘जैसे-जैसे दिन करीब आ रहे थे हम वाकई बहुत घबराहट महसूस कर रहे थे. अभियान के अंतिम सात मिनट में तो धड़कनें और बढ़ गई थी. मंगल की सतह पर रोवर के उतरने की पहली तस्वीरें मिलने के बाद जैसे लगा कि कोई सपना पूरा हो गया.’ बाइडन ने मोहन और अभियान से जुड़े नासा के अन्य वैज्ञानिकों की सराहना की. बाइडन ने कहा, ‘आपने लाखें बच्चों, अमेरिकी युवाओं के सपनों को पूरा किया. आपकी टीम ने जो काम किया, उससे आपने अमेरिकी लोगों का भरोसा बढ़ाया.’

(इनपुट-भाषा)