औगाडौगू: बुर्किना फासो में एक कनाडाई खनन कंपनी के कर्मियों के काफिले पर घात लगाकर किए गए हमले में 37 लोगों की मौत हो गई. यह पश्चिम अफ्रीकी देश में पिछले करीब पांच साल में हुआ सबसे घातक आतंकवादी हमला है. देश के इस्ट क्षेत्र के गवर्नर सैदोउ सानोउ ने बताया कि अज्ञात सशस्त्र लोगों ने बुधवार सुबह उन पांच बसों पर घात लगाकर हमला कर दिया जिनमें सेमाफो खनन कंपनी के स्थानीय कर्मी, ठेकेदार और आपूर्तिकर्ता सवार थे.

उन्होंने बताया कि इस हमले में कम से कम 37 लोगों की मौत हो गई और 60 अन्य लोग घायल हो गए. खनन कंपनी सेमाफो इंक के मालिक ने बताया कि सेना की सुरक्षा में ले जाई जा रहीं पांच बसों पर उस समय हमला हुआ, जब वे तापोआ प्रांत में बौंगोउ सोने की खान से करीब 40 किलोमीटर दूर थीं. सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि काफिले के पीछे चल रहा सेना का एक वाहन विस्फोटक की चपेट में आ गया. सूत्रों ने गोपनीयता की शर्त पर बताया कि कर्मियों को ले जा रहीं दो बसों पर इसके बाद गोलीबारी की गई.

सीरिया में कुर्द और तुर्की समर्थित बलों के बीच जारी हिंसा में 30 की मौत

बुर्किना फासो की सरकार ने बताया कि सुरक्षा बलों ने बचाव एवं तलाश अभियान शुरू कर दिया है. यह पिछले 15 महीनों में सेमाफो पर तीसरा घातक हमला है. इस कंपनी की देश में दो खदान हैं. सेमाफो ने एक बयान में कहा कि हम हमारे कर्मियों, ठेकेदारों एवं आपूर्तिकर्ताओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्राधिकारियों के साथ मिलकर सभी स्तरों पर सक्रियता के काम कर रहे हैं.

(इनपुट-एजेंसी)