बैंकॉक: थाईलैंड के एक न्यायाधीश ने अपने वरिष्ठों पर फैसलों में दखलअंदाजी करने का आरोप लगाते हुए आत्महत्या का प्रयास किया. दक्षिणी प्रांत याला में न्यायाधीश खनाकोर्न पियानचाना ने शुक्रवार को पांच अभियुक्तों को आरोपों से बरी करने के बाद अदालत कक्ष में अपने सीने में गोली मार ली, जबकि इन आरोपों के आधार पर कम से कम तीन अभियुक्तों को मौत की सजा हो सकती थी.

इंटरनेट पर 25 पृष्ठों का एक ज्ञापन ऑनलाइन वायरल हो रहा है जिसे पियानचाना का लिखा बताया जा रहा है. इसमें आरोप लगाया गया है कि उनके वरिष्ठों ने उन पर दोषियों पर अपना फैसला बदलने का दबाव डाला था. बताया जाता है कि यह दस्तावेज पियानचाना के फेसबुक पेज पर पोस्ट किया गया है और साथ में एक छोटा वीडियो भी पोस्ट किया गया है, जिसमें यही आरोप दोहराये गये हैं.

अदालत के एक प्रवक्ता ने बताया कि उन्होंने ऐसा निजी कारणों के चलते किया जबकि कुछ कानून विशेषज्ञों ने उनके इन आरोपों का समर्थन किया है कि न्यायपालिका में ऐसी जोड़-तोड़ की गतिविधियां होती रही हैं.

इमरान खान को सताया डर, अपने कब्जे वाले कश्मीरियों से कहा- LOC पार मत करना नहीं तो…