इस्लामाबाद: ईशनिंदा मामले में सुप्रीम कोर्ट से बरी हुई आसिया बीबी को लेकर पाकिस्तान में चल रहा विरोध- प्रदर्शन फिलहाल थम गया है. खबर के मुताबिक सरकार और आसिया बीबी मामले में विरोध कर रहे एक कट्टरपंथी इस्लामी समूह के बीच बातचीत के बाद शनिवार को विरोध का सिलसिला रुक गया.

ये था मामला
बता दें कि क्रिश्चियन धर्म को मानने वाली ईसाई महिला आसिया बीबी पर ईशनिंदा के आरोप लगे थे. तकरीबन 8 साल पहले आसिया बीबी पर पड़ोसियों के साथ हुए एक विवाद में इस्लाम का अपमान करने का आरोप लगा था. इस मामले में चार बच्चों की मां 47 वर्षीय आसिया बार-बार खुद को बेगुनाह बताती रहीं. बावजूद इसके पिछले आठ साल में अधिकतर वक्त उन्होंने जेल में ही बिताया है. पाकिस्तान की शीर्ष अदालत ने 31 अक्टूबर को फैसला सुनाते हुए उन्हें इस मामले से बरी कर दिया. इसके बाद इस्लामी राजनीतिक दल तहरीक-ए-लबैक पाकिस्तान और अन्य संगठनों के नेतृत्व में पूरे पाकिस्तान में प्रदर्शन शुरू हो गये. प्रदर्शनकारियों ने देश के विभिन्न हिस्सों में राजमार्ग और सड़कों को अवरुद्ध किया.

अमेरिका के ‘मियामी एयरपोर्ट’ पर दी हमले की धमकी, UP ATS ने जालौन से युवक को दबोचा

एग्जिट कंट्रोल लिस्ट में नाम होगा शामिल
पाकिस्तान के प्रमुख मीडिया हाउस ‘डॉन न्यूज’ के मुताबिक, तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) ने सरकार से वार्ता के बाद विरोध प्रदर्शन खत्म कर दिया है. रिपोर्ट के मुताबिक यह घोषणा टीएलपी और सरकार द्वारा राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन को समाप्त करने के लिए एक समझौते पर सहमति बनने के बाद हुई है. सरकार ने एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (ईसीएल) में आसिया बीबी के नाम को शामिल करने के लिए तुरंत कानूनी प्रक्रिया शुरू करने का वादा किया है. सरकार ने यह भी कहा कि वह शिकायतकर्ताओं को आसिया बीबी ईशनिंदा के मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ रिव्यू पिटिशन की मांग का विरोध नहीं करेगी.

ईशनिंदा मामले में बरी आसिया बीबी, मौत की धमकियों के चलते छोड़ सकती हैं पाकिस्तान: सूत्र

टीएलपी ने माफी मांगी
टीएलपी ने बदले में माफी मांगी है और कहा है कि अगर बिना कारण किसी को उसकी वजह से परेशानी हुई है या किसी की भावनाएं आहत हुई हैं तो वह माफी मांगता है. इस बीच मोटरवे पुलिस ने शनिवार को कहा कि मोटरों की आवाजाही वाले मार्ग और राजमार्ग खोल दिए गए हैं. हालांकि, उन्होंने यात्रियों को देश में अस्थिर और अप्रत्याशित स्थिति के कारण इन मार्गों पर अनावश्यक यात्रा करने से बचने की चेतावनी दी है. (इनपुट एजेंसी)