7 Also Read - Earthquake In Delhi-NCR: सुबह-सुबह भूकंप से कांपी धरती, रिक्टर स्केल पर 2.7 रही तीव्रता

बीजिंग 17 मई: भीषण भूकंप के बाद नेपाल और चीन के बीच सड़क मार्ग भारी मलबे के कारण बाधित हो गया था, जिसे अब साफ कर दिया गया है और दोनों देशों के बीच सड़क मार्ग से आवाजाही दोबारा शुरू हो गई है।रविवार को राहत सामग्री से भरे कुछ वाहनों ने चीन की सीमा से नेपाल की राजधानी काठमांडू में प्रवेश किया। चीन की सशस्त्र यातायात पुलिस इस माह के प्रारंभ में भूकंप प्रभावित नेपाल में सहायता के मद्देनजर गई थी। उनका पहला उद्देश्य काठमांडू और तिब्बत स्थित झाम के बीच सीमा को जोड़ने वाले सड़क मार्ग को दोबारा खोलना था। Also Read - Earthquake: 5 घंटे में भूकंप के 3 झटके लगे, 4.1 तीव्रता से हिली गुजरात की धरती

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के मुताबिक, यातायात पुलिस के जनरल फू लिंग और उनके नेपाली समकक्ष ने संयुक्त रूप से यातायात बहाली की घोषणा की।फू ने कहा कि चीन के 500 पुलिस अधिकारियों ने भारी मशीनों का प्रयोग कर आठ मई को सड़क मार्ग साफ कर दिया था। लेकिन 12 मई को आए शक्तिशाली भूकंप में और अधिक भूस्खलन हुआ और सड़क मार्ग क्षतिग्रस्त हो गया। Also Read - Earthquake News: नेपाल में भूकंप के तेज झटके, बिहार के मुजफ्फरपुर, सहरसा समेत इन जिलों में भी हिली धरती

पुलिस अधिकारियों ने 160,000 घन मीटर मलबे को साफ किया और 48 किलोमीटर मार्ग की मरम्मत की।राजमार्ग खुलने के बाद रविवार को पुलिस ने झाम से काठमांडू के लिए 2.5 टन चावल और अन्य खाद्य सामग्री रवाना की। फू ने कहा कि उनका दल राजमार्ग पर यातायात पर निगरानी बनाए रहेगा।उल्लेखनीय है कि नेपाल में 25 अप्रैल को आए भीषण भूकंप में नेपाल और चीन के बीच 943 किलोमीटर लंबा राजमार्ग कई जगहों पर क्षतिग्रस्त हो गया था।