लंदन: एक धर्मांतरित ब्रिटिश मुस्लिम ने ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट स्थित व्यापारिक केंद्र और मैडम तुसाद संग्रहालय समेत लंदन में विभिन्न जगहों को निशाना बनाने के लिये आतंकवादी हमले की साजिश रचने का गुनाह कबूल कर लिया है. लेविस लुडलो ने लंदन के ओल्ड बेली कोर्ट में इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) आतंकवादी समूह से संबंधों और ब्रिटिश राजधानी में महत्वपूर्ण संस्थानों में वैन घुसाने की तैयारी करने की बात कबूल कर ली है. Also Read - लंदन की अदालत में नीरव मोदी की जमानत याचिका लगातार सातवीं बार खारिज : सीबीआई

Also Read - चीन ने ब्रिटेन को दी चेतावनी- हांगकांग के लोगों को नागरिकता देने की गलती में करें सुधार

डिज्नी स्टोरी सहित अन्य स्थानों को बनाना था निशाना Also Read - पंजाब: शौर्य चक्र से सम्मानित बलविंदर की गोली मार कर हत्या, सरकार ने कुछ समय पहले ही वापस ली थी सुरक्षा

अभियोजक मार्क डॉवसन ने अदालत से कहा कि ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट पर व्यस्त समय में डिज्नी स्टोर समेत अन्य स्थानों को वाहन का इस्तेमाल करके निशाना बनाकर बड़ी संख्या में लोगों को हताहत करने की साजिश थी. गलत नाम का इस्तेमाल करके 26 वर्षीय लुडलो ने एक मोबाइल फोन खरीदा और एक नोट में हमले को अंजाम देने की अपनी योजना को लिखा. यह नोट बाद में आतंकवाद निरोधक अधिकारियों ने कूडेदान से फटी हालत में बरामद किया.

आतंकवाद पर सख्त सरकार, अलकायदा-आईएस के नए संगठनों पर बैन

करीब 100 लोगों को मारने का था टार्गेट

उसने ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट को ‘सही निशाना’ चुना और लिखा, ‘उम्मीद है कि हमले में तकरीबन 100 लोग मर सकते हैं.’ लुडलो लंदन के निकट केंट में रॉयल मेल में डाककर्मी था. उसने हमले की साजिश तब रची जब फरवरी में फिलीपीन के लिए उड़ान पकड़ने का प्रयास करने के दौरान उसे हीथ्रो हवाई अड्डे पर पुलिस ने रोक दिया. उसे 18 अप्रैल को आतंकवाद निरोधक पुलिस ने गिरफ्तार किया था और अदालत में शुरूआती पेशी में खड़ा होने से इंकार कर दिया.

बोला सिर्फ अल्लाह के लिए खड़ा हो सकता है

मुख्य मजिस्ट्रेट से उसने कहा कि वह सिर्फ अल्लाह के लिए खड़ा हो सकता है. दक्षिण पूर्व में आतंकवाद निरोधक पुलिस के प्रमुख डिटेक्टिव चीफ सुपरिटेंडेंट काथ बार्न्स ने कहा कि ‘लुडलो ने हमले की योजना लिख ली और संभावित निशानों की टोह ले रहा था. मुझे तनिक भी संदेह नहीं है कि हमारी कार्रवाई से लोग ज्यादा सुरक्षित होंगे. उसे आतंकवादी कृत्य की तैयारी करने और आतंकवादी गतिविधियों के लिये धन मुहैया कराने के दो आरोपों के लिये इस साल मुकदमे का सामना करना था, लेकिन उसने ब्रिटेन में हमले की साजिश रचने और विदेश में आईएसआईएस को धन मुहैया कराने का गुनाह कल की सुनवाई के दौरान कबूल कर लिया.