सैन फ्रांसिस्को: अमेरिका के कैलिफोर्निया के जंगल में लगी भीषण आग में मरने वालों की संख्या बढ़कर 65 हो गई है, जबकि लापता लोगों की संख्या बढ़ कर 631 हो गई है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अमेरिका के इतिहास में इसे अब तक की सबसे भयावह जंगली आग (दावानल) बताया जा रहा है. ताजा जानकारी के मुताबिक़ इस आग से 65 लोगों के मारे जाने और 631 लोगों के लापता होने की सूचना है. इन आंकड़ों में और इजाफा होने की सम्भावना से इंकार नहीं किया जा सकता है. सैकड़ों की तादाद में लोगों ने शेल्टर होम में शरण ले रखी है. लोगों का कहना है कि ‘वे बेहद निराश हैं उन्हें समझ नहीं आ रहा कि अब वो आगे क्या करें, कहां जाएं ?’

डीएनए के मिलान से होगी शवों की शिनाख्त
समाचार एजेंसी के मुताबिक, 65 पीड़ितों में से 63 नॉर्दन कैलिफोर्निया के कैम्प फायर में मारे गए, जबकि दो अन्य साउथ कैलिफोर्निया के वूज्ली फायर में मारे गए. बट काउंटी के शेरिफ व कोरोनेर कोरी होनिया ने गुरुवार शाम को कहा कि बचाव कार्य में डिप्टी, नेशनल गार्ड सैनिक, कोरोनर आदि सैकड़ों बचावकर्मी जुटे हुए हैं और क्षतिग्रस्त कारों, मलबों में शवों की तलाशी कर रहे हैं.

कैलिफोर्निया के जंगलों में भीषण आग: 56 लोगों की मौत, 130 लापता, बचाव अभियान जारी

होनिया ने लापता लोगों के रिश्तेदारों को बुलाया है ताकि अधिकारी उनके डीएनए के नमूने ले सकें. कैलिफोर्निया में आग पर काबू पाने के लिए 9,600 से ज्यादा दमकलकर्मी जुटे हुए हैं. कैम्प फायर में गुरुवार तक 9,700 घर जलकर नष्ट हो चुके हैं. वूज्ली फायर में 500 इमारतें नष्ट हो चुकी है. पिछले सप्ताह कैलिफोर्निया में 2 लाख 30 हजार से ज्यादा एकड़ की भूमि को नुकसान पहुंचा है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा शनिवार को क्षेत्र का दौरा किए जाने की उम्मीद है.