वाशिंगटन: अमेरिका के वित्त मंत्री स्टीवन म्नूचिन ने रविवार को कहा कि ट्रंप सरकार ने कोरोना वायरस महामारी से अर्थव्यवस्था को उबारने के लिये तीन हजार अरब डॉलर की पूंजी खर्च की है. म्नूचिन ने ‘फॉक्स चैनल’ को दिये एक साक्षत्कार में कहा, ‘‘अर्थव्यवस्था को लेकर हमारी योजना जिस तरह से परिणाम दे रही है, हम और राष्ट्रपति ट्रंप इससे अधिक प्रसन्न हो ही नहीं सकते हैं. Also Read - नोबल पर डोनाल्ड ट्रंप की नजर, अब भारत-चीन के बीच कराना चाहते हैं मध्यस्थता

हमने आर्थिक प्रणाली में तीन हजार अरब डॉलर की पूंजी लगायी है. लोगों को लग रहा था कि हमारे देश में बेरोजगारी की दर 25 प्रतिशत पर पहुंच जायेगी. हमारा सौभाग्य, बेरोजगारी दर उसके आसपास भी नहीं जा पायी. हमारे यहां बेरोजगारी की दर अब 8.4 प्रतिशत के स्तर पर है.’’ उन्होंने कहा कि ट्रंप सरकार छोटे व्यवसायों की मदद कर रही है और लोगों के लिये रोजगार के अवसरों का पुन: सृजन करने की दिशा में प्रयास रही है. Also Read - चीन के खिलाफ डोनाल्ड ट्रंप क्यों करते हैं बातें, चीन ने ही बताई वजह

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन राष्ट्रपति और मेरा मानना है कि हमें राहत के अतिरिक्त अधिक कदम उठाने होंगे. हमें महामारी से पहले के स्तर पर पहुंचने के लिये 75 लाख लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने हैं. हम छोटे व्यवसायों की मदद करना चाहते हैं. हम उन व्यवसायों की मदद करना चाहते हैं, जो इस महामारी से प्रभावित हुए हैं.’’ Also Read - TikTok Deal: बिक गया मशहूर चीनी ऐप टिकटॉक, ओरेकल के साथ डील Done

बता दें कि कोरोना वायरस की शुरुआत तो चीन से हुई थी लेकिन इसकी सबसे बड़ी मार अमेरिका को ही झेलनी पड़ी. इस समय कोरोना से संक्रमित मरीजों की सबसे अधिक संख्या अमेरिका में ही है और कोरोना की वजह से अमेरिका को दशक की सबसे बड़ी बेरोजगारी की समस्या का भी सामना करना पड़ रहा है.