जेनेवाः विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने शुक्रवार को युवाओं को चेतावनी दी कि वे कोरोना वायरस महामारी के खतरे से बचे हुए नहीं है और कहा कि उनके आत्मसंयम से बुर्जुगों की जान बच सकती है. Also Read - अगर IPL 2020 टूर्नामेंट को आगे नहीं बढ़ाया गया तो यह बहुत बड़ी 'नाकामी' होगी : बटलर

डब्ल्यूएचओ(WHO) के प्रमुख टेड्रोस अदनोम गेब्रेयसस ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ आज युवाओं के लिए मेरे पास एक संदेश है: आप खतरों से बचे हुए नहीं है. यह वायरस आपको हफ्तों तक के लिए अस्पताल पहुंचा सकता है और यहां तक कि आपकी जान भी ले सकता है.’’ Also Read - हरभजन सिंह चाहते हैं कि आईपीएल का आयोजन हो लेकिन.....

उन्होंने कहा, ‘‘यदि आप बीमार नहीं पड़ते हैं तो भी आपको कहां जाना है, इसे लेकर आप जो अपना निर्णय लेते हैं, वह किसी अन्य के लिए जीवन और मौत के बीच फर्क हो सकता है.’’ Who ने अपने संदेश में कहा कि इस समय हम सभी को इस खतरनाक बिमारी से मिलकर लड़ना है इसलिए हमें सोच समझकर कदम उठाने की जरूरत है. Also Read - Coronavirus Alert: आधे से ज्यादा मरीजों में नहीं दिखते कोरोनावायरस के लक्षण, पर होता है उन्हें संक्रमण, कितना बढ़ा खतरा?

आपको बता दें कि इस वायरस की वजह से दुनिया भर में अब तक 10 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं. यह वायरस शुरू तो चीन के वुहान से हुआ था लेकिन अब इसके साए में दुनिया का लगभग हर एक देश है. इटली इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है. इटली में अब इस वायरस की वजह से 4 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं.