लंदन| ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने आठ जून को मध्यावधि चुनाव कराने के लिए संसद के भीतर भारी समर्थन हासिल किया. टेरीजा का कहना है कि जल्द चुनाव कराने का फैसला ‘राष्ट्रीय हित’ में है और इससे ब्रेक्जिट को लेकर बातचीत के लिए उनके हाथ मजबूत होंगे.

हाउस ऑफ कॉमंस में टेरीजा की ओर से रखे गए प्रस्ताव पर चर्चा के बाद मतदान हुआ। मध्यावधि चुनाव के लिए पेश इस प्रस्ताव पर सदन में बैठे 650 सदस्यों में से 522 सदस्यों ने पक्ष में मतदान किया. विधेयक को दो तिहाई बहुमत से पारित किए जाने की जरूरत थी और प्रधानमंत्री इसमें बखूबी कामयाब रहीं.

मतदान के दौरान 13 सदस्यों ने विपक्ष में मतदान किया.

इससे पहले टेरीजा ने जनता से अपील की कि वे आठ जून को चुनाव कराने के उनके फैसले में भरोसा रखें क्योंकि जल्द चुनाव कराने के उनके फैसले से ब्रेक्जिट से जुड़ी जटिल वार्ताओं में उनके हाथ मजबूत होंगे.

टेरीजा ने कहा, ‘‘मुझे ब्रिटिश जनता में भरोसा है. मैं उनसे मुझ में भरोसा दिखाने को कह रही हूं और अगर वे ऐसा करते हैं, वे सरकार की ब्रेक्जिट संबंधी योजना, ब्रेक्जिट से इतर एक ज्यादा मजबूत ब्रिटेन की योजना के लिए इन वार्ताओं की खातिर मुझे जनादेश देते हैं तो मुझे लगता है कि इससे हमारे हाथ मजबूत होंगे.’’ उन्होंने एक घोषणा में जल्द चुनाव कराने का आह्वान कर कल ब्रिटेन को स्तब्ध कर दिया था.