वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फ्लोरिडा के स्कूल में हुई गोलीबारी के पीड़ितों एवं उनके परिवार से मुलाकात की और शिक्षकों को बंदूक देने की पैरवी की. ट्रंप ने स्कूल में इस तरह की घटनाओं से बचने के लिए स्कूली शिक्षकों एवं कर्मचारियों के पास बंदूक रखने के प्रति समर्थन जताया. सीएनएन के मुताबिक, ट्रंप ने व्हाइट हाउस में बुधवार को ‘लिसनिंग सेशन’ के दौरान यह बात कही. Also Read - व्हाइट हाउस से विदाई के बाद पहले भाषण में डोनाल्ड ट्रंप ने भारत पर क्यों साधा निशाना, कहा...

Also Read - जो बाइडन ने अमेरिका में वैध आव्रजन को रोकने वाले प्रतिबंध को हटाया

अमेरिका के इतिहास में सबसे 'लो लेवल' के राष्ट्रपति हैं डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के इतिहास में सबसे 'लो लेवल' के राष्ट्रपति हैं डोनाल्ड ट्रंप

इस सत्र में फ्लोरिडा के मारजोरी स्टोनमैन डगलस हाईस्कूल में हुई गोलीबारी में बच निकले छात्रों एवं उनके परिवार के सदस्यों ने शिरकत की थी. फ्लोरिडा में हुई गोलीबारी की घटना में 17 लोगों की मौत हुई थी। इस घटना को स्कूल के ही एक पूर्व छात्र निकोलस क्रूज ने अंजाम दिया था. इस कार्यक्रम के दौरान ट्रंप छात्रों एवं उनके परिजनों से रूबरू हुए। इस दौरान छात्रों एवं उनके परिजनों ने बंदूक हिंसा पर सख्त कदम उठाए जाने की मांग की. Also Read - डोनाल्ड  ट्रंप ने नहीं कराए थे दंगे, किसी के भी पास पर्याप्त सबूत नहीं'

ट्रंप ने कहा, “यदि आपके शिक्षक के पास बंदूक होती, तो वह इस हमले को बहुत जल्दी खत्म कर सकते थे.” राष्ट्रपति ने कहा, “यकीनन, उन्हें शिक्षकों को बंदूक रखने होंगे, जो इसे चलाने में निपुण हैं.” इस दौरान ट्रंप ने स्कूलों में गन फ्री जोन की भी आलोचना की. उन्होंने कहा, “गन फ्री जोन पागलपन है क्योंकि ये सभी कायर हैं। गन फ्री जोन क्या है, चलो अंदर चलकर हमला करें.”