नई दिल्ली: निशानेबाजी में जसपाल राणा का नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं हैं. उन्होंने दुनियाभर में भारत का नाम रौशन किया और ढेरों पदक अपने नाम किए. इस बात में दो राय नहीं कि सफर कितना भी सफल रहा हो उसका पहला कदम हमेशा महत्वपूर्ण माना जाता है. जसपाल राणा की बात करें तो उन्होंने अपना पहला स्वर्ण पदक 27 जुलाई को ही जीता था इसलिए इस दिन का उनके और भारत के खेल इतिहास में खास महत्व है.

राणा ने 46वीं विश्व निशानेबाजी चैंपियनशिप के जूनियर वर्ग में इटली के मिलान शहर में 1994 में स्वर्ण पदक प्राप्त किया था. उस समय उन्होंने विश्व का रिकार्ड स्कोर (569/600) बनाकर तहलका मचा दिया था .

देश दुनिया के इतिहास में 27 जुलाई की तारीख में दर्ज चंद और घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है.

1789 : पहली फेडरल एजेंसी द डिपार्टमेंट ऑफ फॉरेन अफेयर्स की स्‍थापना.

1862 : अमेरिकी शहर कैंटन में तूफान का कहर, 40 हजार लोगों की मौत.

1888 : फिलिप प्राट ने पहले इलेक्ट्रिक ऑटोमोबाइल का प्रदर्शन किया.

1897 : बाल गंगाधर तिलक पहली बार गिरफ्तार किए गए. 1935 : चीन की यांग जी और होआंग नदी में बाढ़ से दो लाख लोगों की मौत.

1982 : तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की लगभग 11 साल में पहली अमेरिकी यात्रा.

1994 : निशानेबाज जसपाल राणा ने विश्व शूटिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता.

1987 : खोजकर्ताओं ने टाइटेनिक का मलबा खोजा.

2006 : रूसी प्रक्षेपण यान नेपर जमीन पर गिरा.