नई दिल्ली: द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान एक डायरी लिखी गई थी, जो दुनिया में अब भी सबसे ज्यादा बिकने वाली किताबों में से एक है. इस डायरी को किसी बड़े लेखक ने नहीं, बल्कि ऐनी फ्रैंक नाम की एक किशोरी ने लिखा था, जिसका परिवार यहूदी होने की वजह से एमस्टर्डम में छिपकर रह रहा था लेकिन वह नाजियों की नजर से बच नहीं पाए और पकड़े गए.

ऐनी ने अपनी डायरी में छिपकर रहने के दौरान बिताई गई जिंदगी के बारे में लिखा है. इसके प्रसंग दिल को छू जाने वाले हैं और युद्ध से लोगों का जीवन किस कदर प्रभावित होता है, उसका ब्योरा है. एनी फ्रैंक की मौत यातना शिविर में हुई. ऐनी का जन्म 1929 में 12 जून के दिन हुआ था.

इस दिन इतिहास में और भी कई प्रमुख घटनाएं दर्ज हैं, जो इस प्रकार है:-

1929: एनी फ्रेंक का जन्म.

1964: दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद के खिलाफ आंदोलन करने वाले नेता नेल्सन मंडेला को उम्र कैद की सजा। 1975: इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को चुनाव में सरकारी मशीनरी के गलत इस्तेमाल का दोषी पाया और उनके निर्वाचन को अमान्य करार दिया. 1998: भारत और पाकिस्तान को परमाणु परीक्षण के कारण जी-8 के देशों द्वारा ऋण नहीं देने का निर्णय.

1999: पाकिस्तानी रक्षा बजट में लगभग 11 प्रतिशत की वृद्धि.

2001: सीमा मुद्दे पर भारत-बांग्लादेश वार्ता शुरू.

2002: बालश्रम निषेध दिवस की शुरुआत. इस दिवस का मकसद लोगों में बालश्रम को लेकर जागरूकता फैलाना था.

2007: ऑस्ट्रेलिया के स्कूलों में सिख छात्रों को धार्मिक प्रतीक कृपाण रखने की इजाजत मिली.