कोरोना महामारी और कमजोरी अर्थव्यवस्था की समस्या के बीच यूरोपीय देश फ्रांस में एक नया संकट पैदा हो गया है. वहां पर महिलाओं के टॉपलेस सन बाथ के अधिकार को लेकर जबर्दस्त बहस छिड़ी हुई है. Also Read - Winter Tips: सर्दियों में धूप सेंकना क्‍यों जरूरी, किस समय की धूप सबसे बेहतर...

दरअसल, पिछले सप्ताह फ्रांस के फेमस बीच Mediterranean beach के किनारे महिलाएं टॉपलेस होकर सन बाथ ले रही थीं, तभी स्थानीय पुलिस ने उनसे ऐसा न करने को कहा. इसके बाद महिलाओं के टॉपलेस बाथ के अधिकार के मुद्दे ने तूल पकड़ लिया.

इस मामले में फ्रांस के आंतरिक मामलों के मंत्री को भी उतरना पड़ा.

फ्रांस में महिलाओं को टॉपलेस बाथ करने का कानूनी अधिकार मिला हुआ है. हालांकि कुछ जगहों पर स्थानीय प्रशासन को इस बारे में नियम लागू करने के अधिकार दिए गए हैं.

इस घटना के बाद स्थानीय पुलिस को सफाई देनी पड़ी. स्थानीय पुलिस ने एक बयान जारी कर कहा कि उसके अधिकारी केवल मौके पर मौजूद लोगों की भावनाओं के मुताबिक अपना काम कर रहे थे.

उसने कहा कि मौके पर मौजूद एक परिवार ने उनसे कहा था कि वे लोग महिलाओं के टॉपलेस बाथ से असहज महसूस कर रहे हैं. इसी को लेकर पुलिसकर्मियों ने टॉपलेस बाथ ले रहीं महिलाओं से बात की.

इस मुद्दे पर फ्रांस में बवाल मचा हुआ है. तमाम लोग वहां की पुलिस के रवैये पर सवाल उठा रहे हैं. उनका कहना है कि फ्रांस में महिलाओं की आजादी बहुत बड़ी चीज है.