वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि ईरान परमाणु समझौते से अमेरिका अलग होगा या नहीं, वह इस संबंध में मंगलवार को दोपहर दो बजे ऐलान करेंगे. ईरान परमाणु समझौता तेहरान और छह वैश्विक शक्तियों के बीच 2015 में हुआ था. Also Read - ईरान के नातान्ज परमाणु इकाई में क्‍या हुआ? इसे ईरानी न्‍यूक्‍लीयर चीफ ने ‘परमाणु आतंकवाद’ करार दिया

ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, “मैं कल व्हाइट हाउस से दोपहर दो बजे ईरान परमाणु समझौते पर अपने फैसले का ऐलान करूंगा.” सीएनएन के मुताबिक ट्रंप विचार कर रहे हैं कि क्या ईरान के ऊर्जा और बैंकिंग क्षेत्र पर दोबारा प्रतिबंध लगाए जाए या नहीं. राष्ट्रपति पद संभालने के बाद बीते 15 महीनों में देश की राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर मंगलवार का यह फैसला सबसे अधिक महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

ईरान की ट्रंप को चेतावनी, न्यूक्लियर डील तोड़ी तो बहुत पछताएगा अमेरिका

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल और ब्रिटेन के विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन हाल ही में ट्रंप पर दबाव बना चुके हैं, कि अमेरिका को इस समझौते से जुड़े रहना चाहिए. ट्रंप ने कई मौकों पर कह चुके हैं कि यदि इस समझौते को संशोधित नहीं किया गया तो अमेरिका इस समझौते से अलग हो जाएगा. बता दें कि बराक ओबामा के नेतृत्व में 2015 में अमेरिका ब्रिटेन , चीन , फ्रांस , जर्मनी , रूस और ईरान के बीच परमाणु समझौता हुआ था. इस करार में यह तय हुआ था कि ईरान से सभी प्रतिबंध वापस लिए जाएंगे और इसके बदले में उसे परमाणु बम बनाने के फैसले से पीछे हटना होगा. हालांकि ईरान कहना है कि डील में तय कोई भी लाभ उसे नहीं मिल पा रहे हैं.

ईरान के राष्ट्रपति ने कहा अगर अमेरिका परमाणु समझौता तोड़ेगा तो पड़ेगा पछताना..

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने रविवार को कहा कि अगर अमेरिका तेहरान और विश्व की ताकतों के बीच हुए परमाणु समझौते को तोड़ता है तो उसे बाद में पछताना पड़ेगा. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चेताया है कि 12 मई को वह समझौते को आगे नहीं बढ़ाएंगे. उन्होंने मांग की है कि अमेरिका के यूरोपीय सहयोगी खामियों को दूर करें नहीं तो वह फिर से पाबंदी लगाएंगे.(इनपुट-एजेंसी)