वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को चीनी सामानों के आयात पर लगभग 60 अरब डॉलर का शुल्क लगाने संबंधी मेमो पर हस्ताक्षार कर दिए हैं. सीएनएन के मुताबिक इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी की चोरी की सात महीने की जांच के बाद यह कदम उठाया गया है. Also Read - भारत से दस गुना अधिक है चीन की ताकत, वह देश के लिए पाकिस्तान से बड़ा खतरा है: शरद पवार

इस शुल्क के अलावा अमेरिका ने चीन पर नए निवेश प्रतिबंध लगाने की भी योजना बनाई है. इसके साथ ही विश्व व्यापार संगठन और राजस्व विभाग भी चीन पर अतिरिक्त कदम उठाएगा. उन्होंने कहा कि हम इंटलेक्चुअल प्रापर्टी की समस्या से जूझ रहे हैं. ट्रंप ने गुरुवार को 1974 के व्यापार अधिनयम की धारा 301 की हवाला देकर एक मेमो पर हस्ताक्षर किए. (इनपुट-एजेंसी) Also Read - Coronavirus Fear: पहली बार मास्क में दिखाई दिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, बोले- ये अच्छी बात है...

Also Read - Unknown Pneumonia Virus: कोरोना से नहीं इस नई बीमारी से टेंशन में है चीन, कजाकिस्तान में रहने वाले अपने नागरिकों को किया सावधान