वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को चीनी सामानों के आयात पर लगभग 60 अरब डॉलर का शुल्क लगाने संबंधी मेमो पर हस्ताक्षार कर दिए हैं. सीएनएन के मुताबिक इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी की चोरी की सात महीने की जांच के बाद यह कदम उठाया गया है. Also Read - World Enviorment Day 2020: ये शहर हैं दुनिया में सबसे ज्यादा प्रदूषित, जानें यहां क्यों बने ऐसे हालात

इस शुल्क के अलावा अमेरिका ने चीन पर नए निवेश प्रतिबंध लगाने की भी योजना बनाई है. इसके साथ ही विश्व व्यापार संगठन और राजस्व विभाग भी चीन पर अतिरिक्त कदम उठाएगा. उन्होंने कहा कि हम इंटलेक्चुअल प्रापर्टी की समस्या से जूझ रहे हैं. ट्रंप ने गुरुवार को 1974 के व्यापार अधिनयम की धारा 301 की हवाला देकर एक मेमो पर हस्ताक्षर किए. (इनपुट-एजेंसी) Also Read - पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिक 'अच्छी-खासी संख्या' में आए, भारत पीछे नहीं हटेगा: राजनाथ सिंह

Also Read - पीएम मोदी और डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच भारत-चीन बॉर्डर की स्थिति को लेकर हुई बातचीत