नई दिल्लीः कोरोना वायरस के इलाज में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) के इस्तेमाल को लेकर दुनियाभर में अलग-अलग प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) भी कोविड-19 (Covid-19) के इलाज में मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) का असर देख इसके इसकी तरफदारी करते दिख रहे हैं. डोनाल्ड ट्रंप कई बार इस दवा के फायदों को दुनिया को गिना चुके हैं. इस बीच ट्रंप के बेटे जूनियर ट्रंप (Donald Trump Jr) ने भी ट्विटर (Twitter) पर एक वीडियो शेयर किया था. जिसमें हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के फायदे गिनाए गए थे. लेकिन, जूनियर ट्रंप के इस वीडियो को शेयर करते ही ट्विटर ने उनके अकाउंट को 12 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया. Also Read - World Test Championship से पहले भारत को झटका, Wriddhiman Saha अब भी कोरोना पॉजिटिव

दरअसल, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) कोरोना वायरस के इलाज में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के ट्रायल को बंद कर चुका है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, महामारी के इलाज में इसके अत्यधिक इलाज से दिल के मरीजों और अन्य गंभीर बीमारी से जूझ रहे लोगों के लिए यह जानलेवा साबित हो सकता है. Also Read - Delhi Corona Updates: कोरोना से अनाथ हुए बच्चों-बेसहारा बुजुर्गों की मदद करेगी दिल्ली सरकार- जानें केजरीवाल ने क्या की घोषणा...

इसके अलावा अन्य कई रिपोर्ट्स में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को दिल की बीमारी से जूझ रहे लोगों के लिए खतरा बताया गया है. ऐसे में ट्विटर ने ट्रंप जूनियर के इस वीडियो को शेयर करते ही उनका अकाउंट ब्लॉक कर दिया. Also Read - UP: CM योगी का निर्देश, शवों को बहाने पर रोक लगाने के लिए पुलिस नदियों में करे गश्त

हालांकि, जूनियर ट्रंप के ट्विटर अकाउंट में सिर्फ ट्वीट की सुविधा बैन की गई है. वह अभी भी अपना अकाउंट ब्राउज कर सकेंगे और डायरेक्ट मैसेजिंग की सुविधा भी जारी रहेगी. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्विटर का कहना है कि जूनियर ट्रंप ने जो वीडियो शेयर किया है उसमें कोविड-19 में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को लेकर गलत सूचनाएं दी गई हैं. जो कि नियमों का उल्लंघन है.

बता दें इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सहित कुछ अन्य लोग भी कोरोना वायरस के इलाज में मलेरिया की इस दवा को फायदेमंद बता चुके हैं, लेकिन किसी भी मेडिकल स्टडी में अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हुई है.