वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने एक माइक्रो ब्‍लॉगिंग साइट टि्वटर पर नाराजगी जताई है. ट्रंप ने कहा टि्वटर चीन या कट्टरपंथी वाम डेमोक्रेटिक पार्टी द्वारा किए जा रहे झूठ और प्रचार के बारे में कुछ नहीं कर रहा है. उसने रिपब्लिकन, कंजर्वेटिव और संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति को निशाना बनाया है. कांग्रेस द्वारा धारना 230 को रद्द किया जाना चाहिए. तब तक इसे विनियमित किया जाएगा. Also Read - पूर्वी लद्दाख विवाद: भारत-चीन के आर्मी कमांडरों के बीच आज चुशुल में हाईलेविल मीटिंग

बता दें कि इससे कुछ घंटे पहले ही ट्रंप ने एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए, जो तीसरे पक्ष के उपयोगकर्ताओं द्वारा पोस्ट की जाने वाली सामग्री के लिए ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया मंचों की कानूनी छूट वापस लेने पर केंद्रित है. Also Read - CBSE 12th का अचानक रिजल्ट आने से सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुए मजेदार Memes, 'मेरे को धक-धक हो रेला है'

दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति और टि्वटर में तब ठन गई जब ट्विटर ने शुक्रवार को डोनाल्ड ट्रंप के एक ताजा ट्वीट को ‘फ्लैग’ कर दिया और कहा कि यह हिंसा को बढ़ावा देने संबंधी नियमों का उल्लंघन करता है. Also Read - भारत से दस गुना अधिक है चीन की ताकत, वह देश के लिए पाकिस्तान से बड़ा खतरा है: शरद पवार

इससे कुछ घंटे पहले ही ट्रंप ने एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए थे, जो तीसरे पक्ष के उपयोगकर्ताओं द्वारा पोस्ट की जाने वाली सामग्री के लिए ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया मंचों की कानूनी छूट वापस लेने पर केंद्रित है.

घटनाक्रम तब हुआ जब ट्रंप ने पुलिस हिरासत में अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लोयड की मौत के बाद मिनीपोलिस में जारी हिंसक प्रदर्शनों के संबंध में की ट्वीट किया, जब लूटपाट शुरू होती है तो गोलीबारी शुरू होती है.

हथकड़ी पहने फ्लोयड की गर्दन को एक श्वेत पुलिस अधिकारी द्वारा घुटने से दबाए जाने का वीडियो सामने आने के बाद अमेरिका, खासकर मिनीपोलिस में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं. प्रदर्शनकारियों ने कई जगह आगजनी, लूटपाट और तोड़फोड़ की घटनाओं को अंजाम दिया है.

ट्विटर ने पहले ट्रंप के दो ट्वीटों पर ‘फैक्ट चेक लिंक’ जोड़ दिए थे, जिससे अमेरिकी राष्ट्रपति नाराज हो गए. ट्रंप ने प्रदर्शनकारियों पर निशाना साधते हुए ट्वीट में लिखा, ”ये ठग जॉर्ज फ्लोयड की स्मृति का निरादर कर रहे हैं, और मैं यह नहीं होने दूंगा. अभी गवर्नर टिम वाल्ज से बात की और उनसे कहा कि सेना हर तरह से उनके साथ है…जब लूटपाट शुरू होती है तो गोलीबारी शुरू होती है. आपका धन्यवाद.”

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ने उनके इस ट्वीट को ‘फ्लैग’ कर दिया है और अब इसे ट्विटर के झंडे पर क्लिक करने के बाद ही देखा जा सकता है. सोशल मीडिया कंपनी ने कहा, ‘‘इस ट्वीट ने हिंसा को बढ़ावा देने से संबंधित ट्विटर के नियमों का उल्लंघन किया है. हालांकि हमारा मानना है कि कई बार ट्वीट तक पहुंच बरकरार रहना जनता के हित में हो सकता है.इसने कहा कि वह नियमों का उल्लंघन करने वाले विभिन्न ट्वीट को लेकर सामान्य तौर पर कार्रवाई करती रहती है.

ट्रंप ने अपने दो ट्वीटों पर ट्विटर द्वारा ‘फैक्ट चेक लिंक’ जोड़े जाने के बाद गुरुवार को एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए, जो तीसरे पक्ष के उपयोगकर्ताओं द्वारा पोस्ट की जाने वाली सामग्री के लिए ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया मंचों की कानूनी छूट वापस लेने पर केंद्रित है.

अमेरिकी मीडिया ने टिप्पणी की है कि ट्विटर का हालिया कदम राष्ट्रपति तथा सोशल मीडिया मंचों के बीच तनाव को और बढ़ा सकता है. ट्रंप सोशल मीडिया मंचों को बंद करने की पहले ही धमकी दे चुके हैं.