इस्लामाबाद: पाकिस्‍तानी राष्‍ट्रपति को कश्‍मीर मामले में ट्वीट करना भारी पड़ गया. उन्‍हें ऐसा करने पर न केवल झूठ फैलाने वाला बताया गया है, बल्कि, सोशल साइट ने इसके लिए कानूनी नोटिस भेजा है. कश्मीर मामले में भ्रामक और फर्जी खबरें फैलाने के मामले में सोशल मीडिया साइट ट्विटर ने पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अलवी को नोटिस भेजा है. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी देते हुए यह भी बताया गया है कि ट्विटर ने कहा है कि फिलहाल उसे अलवी की पोस्ट में किसी नियम का उल्लंघन नहीं मिला है, इसलिए अभी वह कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. बता दें कि कश्मीर के बारे में भ्रामक खबरें फैलाने के आरोप में ट्विटर करीब 200 पाकिस्तानी अकाउंट को निलंबित कर चुका है.

राजीव हत्‍याकांड के बाद SPG सुरक्षा में हुए थे बड़े बदलाव, इन पूर्व PM की भी हटी थी ये सिक्‍योरिटी

रिपोर्ट में कहा गया है कि कश्मीर मामले में कई पाकिस्तानी पत्रकारों के बाद अब राजनेताओं के ट्विटर अकाउंट बंद करवाने की ‘साजिश’ रची जा रही है और ट्विटर प्रबंधन ने राष्ट्रपति अलवी व कुछ अन्य नेताओं को नोटिस भेजा है.

मनमोहन सिंह की SPG सुरक्षा हटी, अब पीएम मोदी सहित सिर्फ 4 VVIP को ऐसी सिक्योरिटी

इस मामले में ट्विटर के नोटिस के मेल का स्क्रीनशाट पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने सोशल मीडिया पर साझा किया है. उन्होंने इसके साथ लिखा है, “ट्विटर प्रबंधन खराब मोदी सरकार का प्रवक्ता बनने में बहुत आगे निकल गया. उन्होंने हमारे राष्ट्रपति को नोटिस भेजा है! बेहद अरुचिकर और पूरी तरह से हास्यास्पद.”

VIDEO: कोरियर से घर आया पार्सल, खोलते ही निकला खतरनाक कोबरा

मजारी द्वारा साझा किए गए मेल में ट्विटर की तरफ से लिखा गया है कि अलवी द्वारा 24 अगस्त को कश्मीर की स्थिति पर साझा किए गए एक वीडियो के खिलाफ रिपोर्ट मिली है. इस मेल में ट्विटर प्रबंधन की तरफ से कहा गया है कि ‘ट्विटर ने इसकी जांच की है और अपने किसी नियम या किसी कानून का उल्लंघन नहीं पाया है, जिस वजह से इस बार हम कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं.’