जैक डोर्सी के Twitter के सीईओ का पद छोड़ने के बाद भारतीय मूल के पराग अग्रवाल को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है. Jack Dorsey ने खुद ट्वीट कर सीईओ का पद छोड़ने की जानकारी दी. Jack Dorsey ने एक बयान में कहा कि मैंने Twitter को छोड़ने का फैसला किया है, क्योंकि मेरा मानना है कि कंपनी अब अपने संस्थापकों से आगे बढ़ने के लिए तैयार है. अग्रवाल को लेकर डॉर्सी ने कहा कि मुझे सीईओ के तौर पर पराग पर भरोसा है. पिछले 10 वर्षों में यहां उनका काम बेहद शानदार रहा है. डोर्सी 2022 में अपना कार्यकाल पूरा होने तक निदेशक मंडल में बने रहेंगे. भारत में जन्मे Parag Agrawal IIT बॉम्बे से ग्रेजुएट हैं. ट्विटर के अलावा पराग अग्रवाल याहू, माइक्रोसॉफ्ट और एटीएंडटी जैसी दिग्गज कंपनियों के साथ काम कर चुके हैं. बता दें कि Parag Agrawal पिछले एक दशक से ट्विटर से जुड़े हुए हैं. उन्होंने विशेष Software Engineer के रूप में Twitter ज्वाइन किया और फिर Chief Technology Officer बने.Also Read - World News: इस देश ने जारी किया सख्त कानून-कोरोना वैक्सीन नहीं ली, स्टेडियम-रेस्टोरेंट में नहीं मिलेगी एंट्री

Also Read - World Hindi News: यात्रा के बीच पाकिस्तानी पायलट ने विमान उड़ाने से किया इनकार, बोला- ड्यूटी टाइम खत्म हो गया

CTO के रूप में Parag Agrawal ट्विटर की तकनीकी, रणनीति और उपभोक्ता, राजस्व की देखरेख के लिए जिम्मेदार थे. Parag Agrawal ने आईआईटी बॉम्बे से कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग में बीटेक की पढ़ाई की है. इसके बाद उन्होंने और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से पीएचडी पूरी की. एक रिपोर्ट के अनुसार, 2011 से ट्विटर टीम के सदस्य पराग अग्रवाल की अनुमानित संपत्ति $ 1.52 मिलियन है. पराग अग्रवाल ने ट्वीट कर कहा कि जैक और हमारी पूरी टीम को आभार और भविष्य के लिए अत्यधिक उत्साह. यहां वह नोट है जो मैंने कंपनी को भेजा था. आपके विश्वास और समर्थन के लिए आप सभी का धन्यवाद. Also Read - Salman Khan ने पड़ोसी पर किया मानहानि का केस, कोर्ट का अंतरिम आदेश देने से इनकार, यूट्यूब, FB, ट्विटर और गूगल भी हैं पक्षकार

Parag Agrawal ने कहा कि मुझमें और मेरे नेतृत्व में भरोसा जताने के लिए बोर्ड को धन्यवाद कहना चाहता हूं. जैक की लगातार मेंटरशिप, सहयोग और भागीदारी के लिए मैं उनका आभारी हूं. जैक डॉर्सी के नेतृत्व में कंपनी ने जो उपलब्धियां हासिल की हैं मैं उनको आगे बढ़ाने के लिए तैयार हूं.

पराग अग्रवाल ने ट्विटर लिखा कि वह अपनी नियुक्ति को लेकर काफी सम्मानित महसूस कर रहे हैं एवं खुश हैं और उन्होंने डोर्सी के ‘निरंतर मार्गदर्शन एवं दोस्ती’ के लिए उनका आभार व्यक्त किया. उधर, डोर्सी ने अपने ट्विटर पेज पर डाले एक पत्र में लिखा कि वह कंपनी छोड़ने को लेकर ‘काफी दुखी लेकिन काफी खुश भी हैं’ और यह उनका अपना फैसला है. इससे पहले डॉर्सी के पद छोड़ने की खबर के बाद ट्विटर के शेयरों में उछाल आ गया. डोर्सी ने रविवार को ट्विटर पर लिखा था, ‘मुझे ट्विटर बहुत प्रिय हैं.’

बता दें कि डोर्सी स्क्वॉयर नाम की एक दूसरी कंपनी के भी शीर्ष कार्यकारी हैं. उन्होंने इस वित्तीय भुगतान सेवा प्रदाता कंपनी की स्थापना की थी. कुछ बड़े निवेशकों ने खुलकर यह सवाल उठाया था कि डॉर्सी कैसे कारगर तरीके से दोनों ही कंपनियों का नेतृत्व कर सकते हैं.