इस्लामाबाद: पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आयोजित एक रैली में लाठीचार्ज होने से कम से कम दो लोगों की मौत हो गई जबकि कई अन्य घायल हो गए हैं. गुलाम कश्‍मीर के मुजफ्फराबाद में राजनीतिक दलों की रैली में पुलिस के लाठीचार्ज में इन लोगों की जीन गई है. बता दें कि यह रैली ऑल इंडिपेंडेंट पार्टीज अलायंस (AIPA)के तहत विभिन्न राजनीतिक दलों ने आयोजित की थी. ये लोग पाकिस्तान की इमरान सरकार से आजादी के लिए रैलियां निकाल रहे हैं. पाकिस्तान में पिछले कई दिनों से इस तरह की रैलियों के इंतजाम हो रहे हैं लेकिन इमरान खान इन्हें रोकने में नकामयाब रहे.


इससे पहले पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान को पद से हटाने की मांग के साथ प्रस्तावित जमीयते उलेमाए इस्लाम-फजल (जेयूआई-एफ) के आजादी मार्च व धरने को रोकने के लिए देश के अलग-अलग हिस्सों में गिरफ्तारियां शुरू कई गई हैं. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, 31 अक्टूबर को होने वाले मार्च व इस्लामाबाद में धरने को रोकने के लिए अभी ही से कुछ रास्तों पर कंटेनर लगा दिया गया है और अतिरिक्त पुलिस बल इस्लामाबाद और आसपास तैनात कर दिए गए हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, मार्च व धरने का बैनर लगाने तथा इसमें शामिल होने के लिए लोगों को ‘उकसाने’ पर दो धर्मगुरुओं (उलेमा) को इस्लामाबाद में गिरफ्तार किया गया. उन्हें बाद में जमानत पर छोड़ दिया गया. कराची में भी जेयूआई-एफ के कई सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है. पार्टी सदस्यों पर फैसलाबाद में भी मुकदमे दर्ज किए गए हैं.