सोल: दक्षिण कोरिया के प्रधानमंत्री ने सोमवार को बताया कि दोनों कोरियाई देश उत्तर कोरिया की लंबी दूरी की मारक क्षमता वाले तोपखाने को सीमा से हटाने के संबंध में बातचीत कर रहे हैं. बता दें कि दोनों देश आपसी तनाव को कम करने और हाल ही में रिश्तों में आये सुधार को जारी रखते हुए यह कदम उठा रहे हैं.

सूचनाओं के अनुसार, उत्तर कोरिया ने सीमा पर करीब 1,000 तोपें तैनात की हुई हैं जो दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल और अन्य महत्वपूर्ण शहरों को निशाना बनाने में सक्षम हैं. 1950-53 के बीच हुए कोरिया युद्ध के 68 साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री ली नाक – योन ने कहा कि लंबी दूरी की मारक क्षमता वाले तोपखाने को पीछे ले जाने पर चर्चा की जा रही है. दरअसल ली की टिप्पणी इस बात की पुष्टि करती है कि दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया से अपने तोपखाने को पीछे ले जाने की मांग की है. हालांकि दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने ली के बयान पर तत्काल कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया है.  (इनपुट एजेंसी)