कराची: पाकिस्तान में एक बार फिर लड़कियों के दो स्कूलों को आग लगाए जाने का मामला सामने आया है. देश में हाल में ऐसी घटनाओं में इजाफा हुआ है जिससे शिक्षण संस्थानों की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं. एक मीडिया रिपोर्ट में आज यह जानकारी दी गई.

पाकिस्तान में एक हफ्ते के अंदर शिक्षण संस्थानों पर हमले का यह दूसरा अहम मामला है. शुक्रवार को अज्ञात आतंकवादियों ने देश के उत्तरी गिलगित बालटिस्तान क्षेत्र में 12 स्कूलों में आगजनी की थी. इनमें से आधे छात्राओं के थे. दुनिया न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक अशांत बलूचिस्तान प्रांत के पिशिन जिले में कल हमला हुआ. इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है क्योंकि रात के समय स्कूल में कोई मौजूद नहीं था. पाकिस्तान के उत्तरी इलाकों में अक्सर लड़कियों के स्कूलों को निशाना बनाया जाता है.

पाकिस्तान: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में और बढ़ सकती हैं पूर्व राष्ट्रपति जरदारी की मुश्किलें

दस सालों में 1500 स्कूलों को नष्ट किया
इससे पहले दिसंबर 2011 में चिलास में कम तीव्रता के धमाके में छात्राओं के दो स्कूलों को आंशिक रूप से क्षति पहुंची थी. 2004 में भी यहां लड़कियों के विद्यालय कई हमलों के शिकार हुए थे. फरवरी में इस इलाके में पांच दिनों में नौ स्कूलों पर हमला किया गया था इनमें से आठ लड़कियों के थे. एक रिपोर्ट के मुताबिक कबायली इलाकों में बीते दस सालों में 1500 स्कूलों को नष्ट किया गया.  (इनपुट एजेंसी)