कोलंबो: श्रीलंका के सुरक्षा बलों ने देश के पूर्वी हिस्से में इस्लामिक स्टेट से जुड़े आतंकवादियों के ठिकाने पर छापा मारा और मुठभेड़ में कम से कम दो आतंकवादियों को मार गिराया. सेना के प्रवक्ता सुमित अटापट्टू ने शनिवार को बताया कि सुरक्षाबलों ने जब कलमुनई शहर में बंदूकधारियों के ठिकाने में घुसने की कोशिश की तो उन्होंने गोलियां चलानी शुरू कर दी. उन्होंने कहा, ‘‘जवाबी कार्रवाई में दो बंदूकधारी मारे गए.’’ उन्होंने बताया कि मुठभेड़ की चपेट में आए एक नागरिक की भी मौत हो गई.

बता दें कि 21 अप्रैल को ईस्टर के दिन सात आत्मघाती बम हमलावरों ने तीन गिरजाघरों और तीन होटलों में कई धमाके किए थे, जिनमें मरने वालों की संख्या बढ़कर 359 हो गई है. देश में यह सबसे भयावह आतंकवादी हमला था. इस्लामिक स्टेट ISIS ने श्रीलंका में ईस्टर के दिन हुए भयानक आत्मघाती हमलों की मंगलवार को जिम्मेदारी ली.

श्रीलंका में हुए विस्फोटों में मरने वालों की संख्या हुई 359, इतने विदेशी नागरिक भी शामिल

हमलों में मारे गए लोगों का सामूहिक अंतिम संस्कार
श्रीलंका में सिलसिलेवार बम हमलों में मारे गए लोगों को सामूहिक अंतिम संस्कार किया गया. इससे पहले कुछ देर के लिए मौन रखा गया. झंडे आधे झुके रहे. इन हमलों में 359 लोग मारे गए. स्थानीय मीडिया ने खबर दी कि सामूहिक अंतिम संस्कार कोलंबो के उत्तर में नेगोम्बो स्थित सेंट सेबास्टियन चर्च में किया गया. यह आत्मघाती हमलों के घटनास्थलों में से एक है. इसने कहा कि अंतिम संस्कार नष्ट हुए चर्च में किया गया, जहां आत्मघाती हमलावर के हमले में 100 लोग मारे गए थे. हमलों में 500 लोग घायल हुए हैं. देश में आपात स्थिति के बीच अंतिम संस्कार किया गया.