लंदन: ब्रिटेन में सबसे प्रभावशाली एशियाई लोगों की ताजा सूची में वहां की मेट्रोपॉलिटन पुलिस के आतंकवाद-निरोधक प्रमुख भारतीय मूल के नील बसु और ब्रिटेन के पहले सिख न्यायाधीश सर रविंदर सिंह शामिल हैं. पाकिस्तान मूल के ब्रिटिश गृह मंत्री साजिद जाविद और लंदन के मेयर सादिक खान भी इस सूची में शामिल हैं.

व्हाइट हाउस ने दी सफाई कहा- अमेरिकी राष्ट्रपति के पास सिर्फ एक सरकारी i-Phone है

प्रभावशाली लोगों में भारत का डंका 
बुधवार की रात यहां ‘गरवी गुजरात (जीजी2)’ और ‘ईस्टर्न आइ’ नामक प्रकाशन कंपनियों के प्रकाशकों का समूह ‘एशियन मीडिया ग्रुप’ द्वारा आयोजित जीजी2 लीडरशिप अवॉर्ड्स में ‘ईस्टर्न आइ जीजी2 पॉवर लिस्ट’ नामक इस सूची को जारी किया गया.

स्कॉटलैंड यार्ड के उपायुक्त और फिर आयुक्त रहे 50 वर्षीय नील बसु को इसी साल मार्च में वहां की आतंकवाद-निरोधक संस्था का प्रमुख नियुक्त किया गया था. उन पर देश की सुरक्षा की अत्यंत महत्त्वपूर्ण जिम्मेदारी है. वहीं दूसरी ओर, महज 39 वर्ष की उम्र में ब्रिटेन में उच्च न्यायालय के सबसे युवा न्यायाधीश बनने वाले रविंदर सिंह अब वहां की न्यायपालिका के शीर्ष पद पर विराजमान हैं. उन्होंने पिछले साल कोर्ट ऑफ अपील में जज के तौर पर शपथ ली थी. रविंदर सिंह का जन्म 1964 में दिल्ली में हुआ था.

शांति बहाली में अहम भूमिका निभा सकती हैं महिलाएं, अफ़सोस इनकी सहभागिता बेहद कम: UN

101 प्रभावशाली एशियाई लोगों की सूची में शामिल भारतीय मूल के अन्य प्रमुख शख्सियतों में श्रृति वडेरा, सर वेंकटरमन रामकृष्णन, लक्ष्मी मित्तल, रिषी सुनाक, रामी रेंजर, लॉर्ड स्वराज पॉल, करतार ललवानी, अनुष्का शंकर जैसी मशहूर शख्सियतें शामिल हैं. (इनपुट एजेंसी)