संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस नई दिल्ली की मौजूदा स्थिति पर करीबी नजर बनाए हुए हैं. साथ ही उन्होंने प्रदर्शनकारियों को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने देने और सुरक्षाबलों से संयम बरतने की सलाह दी है. महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ मुझे लगता है कि यह बेहद जरूरी है कि प्रदर्शनकारियों को शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करने दिया जाए और सुरक्षाबल सयंम बरतें.’’ संयुक्त राष्ट्र के स्थिति पर नजर रखने के सवाल पर दुजारिक ने कहा, ‘‘जी हां, हम निश्चित तौर पर स्थिति पर करीब नजर बनाए हैं. यह महासचिव का रुख है.’’ Also Read - केरल सरकार का बड़ा फैसला, नागरिकता कानून और सबरीमाला मामले को लेकर प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मुकदमे वापस होंगे

गौरतलब है कि दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया. उपद्रवियों ने कई घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया. इन घटनाओं में बुधवार तक कम से कम 22 लोगों की जान चली गई और करीब 200 लोग घायल हो गए. Also Read - VIDEO: राहुल गांधी ने कहा- 'हम दो-हमारे दो' अच्छी तरह सुन लें, असम को कोई नहीं बांट पाएगा, CAA नहीं होगा

हाईकोर्ट ने दिल्ली हिंसा पर कहा- एक और ’84’ नहीं होने देंगे, तीन BJP नेताओं के ख़िलाफ़ FIR दर्ज हो Also Read - अमित शाह का बड़ा बयान, कोविड-19 टीकाकरण समाप्त होने के बाद लागू किया जाएगा CAA

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस हिंसा पर अपनी पहली प्रतिक्रिया देते हुए लोगों से शांति एवं भाईचारा बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में वर्तमान हालात की गहन समीक्षा की है. मोदी ने यह भी कहा कि शांति एवं सामान्य स्थिति जल्द बहाल करना बेहद जरूरी है. दिल्ली हिंसा को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के लोगों से शांति बनाए रखने अपील की है. अमित शाह ने नेताओं से गलत बयान देने से बचने को कहा है. उन्होंने गृह मंत्रालय के साथ हालात को कंट्रोल करने के लिए मीटिंग की. इसी बीच कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने हिंसा के लिए बीजेपी नेताओं को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि नफरत वाले बयानों के बाद हिंसा हुई. हालात बिगड़ते रहे और किसी ने कुछ नहीं किया. गृह मंत्री अमित शाह को इसके लिए इस्तीफा दे देना चाहिए.