संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस नई दिल्ली की मौजूदा स्थिति पर करीबी नजर बनाए हुए हैं. साथ ही उन्होंने प्रदर्शनकारियों को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने देने और सुरक्षाबलों से संयम बरतने की सलाह दी है. महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ मुझे लगता है कि यह बेहद जरूरी है कि प्रदर्शनकारियों को शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करने दिया जाए और सुरक्षाबल सयंम बरतें.’’ संयुक्त राष्ट्र के स्थिति पर नजर रखने के सवाल पर दुजारिक ने कहा, ‘‘जी हां, हम निश्चित तौर पर स्थिति पर करीब नजर बनाए हैं. यह महासचिव का रुख है.’’ Also Read - कोरोनावायरसः पुलिस ने खाली कराया शाहीन बाग, सौ दिन से चल रहा था CAA के खिलाफ प्रोटेस्ट

गौरतलब है कि दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया. उपद्रवियों ने कई घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया. इन घटनाओं में बुधवार तक कम से कम 22 लोगों की जान चली गई और करीब 200 लोग घायल हो गए. Also Read - दिल्‍ली के शाहीन बाग धरनास्थल पर फेंका गया पेट्रोल बम

हाईकोर्ट ने दिल्ली हिंसा पर कहा- एक और ’84’ नहीं होने देंगे, तीन BJP नेताओं के ख़िलाफ़ FIR दर्ज हो Also Read - जनता कर्फ्यू में शामिल नहीं होंगी शाहीन बाग की दादियां, कहा- यहां मरना पसंद करूंगी

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस हिंसा पर अपनी पहली प्रतिक्रिया देते हुए लोगों से शांति एवं भाईचारा बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में वर्तमान हालात की गहन समीक्षा की है. मोदी ने यह भी कहा कि शांति एवं सामान्य स्थिति जल्द बहाल करना बेहद जरूरी है. दिल्ली हिंसा को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के लोगों से शांति बनाए रखने अपील की है. अमित शाह ने नेताओं से गलत बयान देने से बचने को कहा है. उन्होंने गृह मंत्रालय के साथ हालात को कंट्रोल करने के लिए मीटिंग की. इसी बीच कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने हिंसा के लिए बीजेपी नेताओं को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि नफरत वाले बयानों के बाद हिंसा हुई. हालात बिगड़ते रहे और किसी ने कुछ नहीं किया. गृह मंत्री अमित शाह को इसके लिए इस्तीफा दे देना चाहिए.