वाशिंगटन: अमेरिका की सरकार ने ‘पनामा पेपर्स’ मामले के केंद्र में रहे फर्म से जुड़े चार लोगों को आरोपित किया है. इन चारों पर फर्म के जरिये धन शोधन और कर चोरी में लोगों की मदद करने का आरोप है.

यह चारों एक लॉ फर्म मोसैक फोंसेका से जुड़े हैं. इस फर्म ने कर चोरी और विदेशों में धन जमा करने में दुनिया भर के हजारों लोगों की मदद की थी. ग्यारह आरोपों के लिए अभ्यारोपित किए गए चार आरोपी हैं रामसेस ओवेन्स (50), डर्क ब्राउर (54), रिचर्ड गैफी और हेराल्ड जोआचिम वोन डेर गोल्टज (81). न्याय मंत्रालय का कहना है कि ओवेन्स पनामा के एक वकील हैं जो मोसैक फोंसेका के लिए काम करते थे. वहीं, जर्मन नागरिक ब्राउर मोसफोन एसेट्स मैनेजमेंट में निवेश प्रबंधक थे. यह फर्म मोसैक फोंसेका से करीब से जुड़ा हुआ है.

पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन लड़ सकते हैं 2020 में अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव

इन दोनों पर अमेरिकी आयकर विभाग से अपनी संपत्ति छुपाने की इच्छा रखने वाले ग्राहकों के लिए मुखौटा कंपनियों का निर्माण, उनका विपणन और देखभाल करने का आरोप है. आरोपों के अनुसार, अमेरिका अकाउंटेंट गैफी ने अमेरिका के लोगों को कथित रूप से मोसैक फोंसेका में अकाउंट खोलने में मदद की. वहीं, जर्मन नागरिक वोन डेर गोल्टज मुखौटा कंपनियां बनाने में गैफी और ओवेन्स की मदद करता था. (इनपुट एजेंसी)