अमेरिकी अधिकारियों ने मंगलवार को ईरान सरकार से संबद्ध कई ‘न्यूज वेबसाइट’ पर रोक लगा दी. अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव के बीच यह एक ऐसा कदम है, जिसे ईरानी मीडिया पर एक दूरगामी कार्रवाई के रूप में देखा जा सकता है.Also Read - PM मोदी से ऐसी गर्मजोशी से मिले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, दुनिया देख रही ये वीडियो

अमेरिकी अधिकारी ने नाम उजागर ना करने की शर्त पर बताया कि अमेरिका ने करीब तीन दर्जन वेबसाइट बंद की हैं, जिनमें से अधिकतर ईरान द्वारा किए जाने वाले दुष्प्रचार प्रयासों से जुड़ी थीं. अमेरिकी सरकार ने इस संबंध में अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है. Also Read - विदेश मंत्री एस जयशंकर का बड़ा बयान- पाकिस्‍तान को अमेरिकी समर्थन भी भारत-पाक विवादों की एक वजह

ईरान की सरकारी समाचार एजेंसी ‘आईआरएनए’ ने अमेरिकी सरकार द्वारा वेबसाइट बंद करने की घोषणा की, लेकिन इस मामले पर कोई विस्तृत जानकारी मुहैया नहीं कराई. Also Read - अमेरिका पहुंचने वाले लोगों के लिए COVID-19 टेस्ट जरूरी नहीं, बाइडन सरकार ने हटाई पाबंदी

यह कदम विश्व शक्तियों के तेहरान के 2015 के परमाणु समझौते को फिर से सक्रिय करने के लिए मशक्कत करने और ईरान के न्यायपालिका प्रमुख इब्राहीम रायसी की राष्ट्रपति चुनाव में जीत के कुछ दिन बाद उठाया गया है.

चुनाव में जीत के बाद अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में रायसी ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन से तेहरान के बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम और क्षेत्रीय मिलिशिया के समर्थन पर बातचीत की संभावनाओं को खारिज कर दिया था.