संयुक्त राष्ट्र: अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की सोमवार को एक आपात बैठक बुलाई है, जिसमें कुछ देशों द्वारा उत्तर कोरिया पर लगे प्रतिबंधों को ”कमजोर करने और बाधा पहुंचाने ” पर चर्चा की जाएगी. अमेरिकी मिशन ने शुक्रवार शाम घोषण की कि इस बैठक में उत्तर कोरिया पर संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों के क्रियान्वयन और उनको प्रभावी बनाने पर चर्चा की जाएगी.
मिशन ने किसी देश का नाम नहीं लिया, लेकिन अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने गुरुवार को रूस पर आरोप लगाया था कि वह उत्तर कोरिया के खिलाफ प्रतिबंधों पर रिपोर्ट में बदलाव करने के लिए संयुक्त राष्ट्र की स्वतंत्र समिति पर दबाव बना रहा है.

इस रिपोर्ट में प्रतिबंधों के उल्लंघन का भी मामला शामिल है, जिसमें रूस के कई लोगों का नाम है. उन्होंने कहा कि पैनल को पहली रिपोर्ट जारी करनी चाहिए, जिसमें संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों का उल्लंघन करते हुए उत्तर कोरिया के लिए भारी मात्रा में एक जहाज से दूसरे जहाज में पेट्रोलियम उत्पादों के स्थानांतरण की बात कही गई थी. उसमें कहा गया था कि रूसी जहाजों से कुछ उत्पाद उतारे गए थे.

दूसरी ओर, रूस के राजदूत वासिली नेबेन्जिया ने कहा कि अगस्त के अंत में हमने रिपोर्ट जारी करने पर रोक लगाई थी, क्योंकि उसमें शामिल कुछ बातों से इस इत्तेफाक नहीं रखते. हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि वह तथ्य क्या हैं.

अगस्त में मिली विशेषज्ञों के रिपोर्ट की प्रति के अनुसार, उत्तर कोरिया ने अभी तक अपना परमाणु कार्यक्रम बंद नहीं किया है. उसमें यह भी कहा गया था कि उत्तर कोरिया कोयला, हथियारों और वित्तीय प्रतिबंधों का भी उल्लंघन कर रहा है. अमेरिका, रूस और पश्चिमी तथा सुरक्षा परिषद के अन्य सदस्यों के बीच मतभेद के कारण विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट जारी होने में छह महीने की देरी हो रही है.